Live

रिपोर्ट - नागेन्द्र कुमार 

परसा बाज़ार (सारण)। शहादत और कुर्बानियों की अतिरेक बुलंदियों से इतर करबला की भूमि मुस्लिम समुदाय के लिए एक  उत्सर्ग की भूमि है।आज के दिन इस समुदाय से जुड़े लोग मानवी जुल्म व मानवता के हिफाजत के लिए प्रतीक स्वरूप तजीया उठाए करबला की भूमि पर खड़े हो कर अत्याचार के खिलाफ एक जुटता का प्रदर्शन करते है। मुस्लिम मजहब में भले ही अलग अलग संप्रदाय के लोग हो पर आज के दिन सब का मकसद शहादत कर्ता हसन और हुसैन के प्रति समर्पण प्रकट करना होता है।

आज ही के दिन करबला की भूमि ने मानवता को लेकर त्याग और जीवन उत्सर्ग की जो मिशाले पेश की वह सदियों से सदियों  तक याद रखा जाएगा । 

इसी कड़ी में पारस बाजार में भी ताजिया के साथ भव्य जुलूस निकाल अपने अपने अंदाज में कर रहे करतब तथा उनके प्रदर्शन को देखने के  लिए हर समुदाय के लोग भी दिख रहे उत्सुक।


Posted by

Raushan Pratyek Media


जरूर पढ़ें

Stay Connected