किशोर कुमार की रिपोर्ट

मधुबनी-कोविड-19 के कारण लोगों ने मास्क पहनना शुरू तो कर दिया है, लेकिन बहुत से लोग इसका सही तरीके से प्रयोग नहीं कर रहे हैं। ऐसे लोगों के मास्क पहनने का कोई मतलब नहीं है। विशेषज्ञों का कहना है कि सही तरीके से मास्क न पहनना कोविड-19 की चपेट में आने की संभावना बढ़ा सकता है। मास्क पहनने से लेकर उसके निस्तारण तक सतर्कता आवश्यक है। अगर इस प्रक्रिया में चूक होती है तो मास्क के जरिये भी बीमारी का प्रसार हो सकता है। इस संबंध में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भी सोशल मीडिया के जरिये अभियान चला कर लोगों को जागरूक कर रहा है। वहीं लोगों से अपील की जा रही है कि घर से बेवजह बाहर न निकलें। बहुत जरूरी है तभी बाहर निकलें। लेकिन घर से बाहर निकलना है तो मास्क जरूर पहनें। चिकित्सकों का कहना है कि मास्क के प्रति सतर्कता का व्यवहार नितांत आवश्यक है। मास्क को डोरी के जरिये ही पहनना चाहिए और डोरी की मदद से ही उतारना चाहिए। जहां एक से अधिक लोग आसपास हों वहां मास्क न उतारें। अकेले बैठे हों तो मास्क उतार सकते हैं। खासतौर से भोजन करते समय यह ध्यान दें कि मास्क अकेले में उतारें। मास्क को कभी भी सामने से पकड़ कर न उतारें। मास्क पहनते समय ऊपर की डोरी हमेशा पहले बांधनी चाहिए। बहुत से लोग मास्क नाक के नीचे पहनते हैं जो कि सही तरीका नहीं है। सभी को सुनिश्चित करना चाहिए कि मास्क से मुंह और नाक अच्छी तरह से ढंका हो। मास्क इतनी सख्ती से भी न बांधें कि सांस लेने में परेशानी हो। बहुत जरूरी काम से बाहर निकलना है तो डबल मास्क जरूर पहनें।


सही तरीके से पहने मास्क:

सीडीओ डॉ आरके सिंह ने कहा कि बहुत से लोग मास्क को सरका कर दाढ़ी पर रख लेते हैं। यह उचित व्यवहार नहीं है। जब कुछ खाना या पीना हो तो मास्क को सही तरीके से उतार कर रख दें। मास्क को हमेशा खूंटी पर टागें। अगर गलती से किसी सतह पर मास्क रख दिया है तो उसे सैनिटाइज करना न भूलें। अपने मास्क को कभी भी सामने से न छुएं। मास्क हटाते समय नीचे की डोरी पहले खोलें। मास्क को डोरी की सहायता से ही उतारना चाहिए। कपड़े का मास्क है तो धुल कर पुनः इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन सर्जिकल मास्क धुल कर इस्तेमाल करना सुरक्षित नहीं है। एक ही सर्जकल मास्क को कई दिनों तक इस्तेमाल न करें। सर्जिकल मास्क छह से आठ घंटे में बदलना है। खांसते-छींकते समय मास्क का इस्तेमाल अवश्य करना चाहिए। प्रयोग किये गये मास्क को पेपर बैग में लपेट कर तीन दिन के बाद ही सामान्य कचरा पात्र में डालें।

टीकाकरण के बाद भी पहनना है मास्क:

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोरोना टीकाकरण के बाद भी कोविड नियमों का सभी को पालन करना चाहिए। टीके की दोनों डोज लगने के बावजूद मास्क का इस्तेमाल अवश्य करें। अगर कोई कोविड मरीज मास्क लगाए है और उसके सामने बैठा आदमी भी मास्क पहने हुए है तो बीमारी के एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में प्रसार की आशंका अत्यंत कम हो जाती है। लेकिन अगर दोनों लोग मास्क नहीं लगाए हैं तो बीमारी के संचरण की आशंका प्रबलतम हो जाती है। लोगों को हमेशा मास्क पहनना है।


मास्क के फायदे-

• यह कोविड-19 के साथ-साथ अन्य वायरस से भी बचाव करता है।

• टीबी की बैक्टेरिया से भी बचाव होता है।

• नाक और मुंह को धूल-मिट्टी से भी बचाता है।

• हर प्रकार के इंफेक्शन से बचाव करता है।


 


Advertisements

Posted by : Raushan Pratyek Media

Follow On :


जरूर पढ़ें

Grievance Redressal Officer (Any Complain Solution) Name: Raushan Kumar   Mobile : 8092803230   7488695961   Email : [email protected]