शेखपुरा। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत संविदा पर बहाल स्वास्थ्यकर्मी पिछले दो दिनों से मांगो के समर्थन में आन्दोलन के तहत होम आइसोलेट हो गया थे। पटना उच्च न्यायालय के आदेश के बाद सभी आन्दोलनरत स्वास्थ्यकर्मी शुक्रवार को काम पर लौट आये। इन सभी के काम पर लौटने के बाद जिले में कोरोना टेस्टिंग और वैक्सीनेशन के काम में तेज़ी आ गयी। साथ ही इन सभी कार्यो की रिपोर्टिंग भी दुरुस्त कर ली गयी। इन कर्मियों के हड़ताल के कारण जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गयी थी। टेस्टिंग के साथ साथ अन्य सभी कार्य बाधित हो रहे थे। स्वास्थ्य विभाग की समान्य सेवा पर भी इसका असर पड़ा था। प्रखंड स्तरीय हेल्थ प्रबन्धक के इस आन्दोलन में शामिल होने से कोरोना संम्बधी कार्यो की रिपोर्टिंग भी कई स्तर पर बाधित हो रही थी। इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बिहार राज्य स्वास्थ्य समिति कर्मी संघ के जिलाध्यक्ष डीपीएम श्याम कुमार निर्मल ने बताया कि उच्च न्यायालय के आदेश के तहत जिला से लेकर प्रखंड और पंचायत स्तर पर तैनात सभी कर्मी काम पर पहुच गए हैं। कोरोना की लडाई में इन सभी का योगदान महत्वपूर्ण है। दो दिन तक आदोलन के तहत होम आइसोलेशन में रहने के काम अब स्वास्थ्य विभाग के सभी कार्य खासकर कोरोना टेस्टिंग और वैक्सीनेशन कार्य में जुट गए हैं। उन्होंने बताया कि नौ सूत्री मांग को लेकर सरकार से इनलोगों को केवल अस्वाशन प्राप्त हो रहा है। इस बार हाई कोर्ट के हस्तक्षेप से मांगो की पूर्ति की आस बढ़ गयी है।


 


Advertisements

Posted by : Raushan Pratyek Media

Follow On :


जरूर पढ़ें

Grievance Redressal Officer (Any Complain Solution) Name: Raushan Kumar   Mobile : 8092803230   7488695961   Email : pratyak75@gmail.com