शशि कोशी रोक्का की रिपोर्ट

ठाकुरगंज:-गरीबों के मसीहा व पिछड़ों के नेता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जननायक कर्पूरी ठाकुर की 98 वी जयंती धूमधाम से ठाकुरगंज नाई संघ ने मनाई।कार्यक्रम की अधयक्षता नाई संघ के अध्यक्ष कारी ठाकुर ने किया। कार्यक्रम ठाकुरगंज स्टेशन रोड स्थित संघ के अध्यक्ष के प्रतिष्ठान में मनाया गया।मौके पर उपस्थित नाई संघ के अध्यक्ष कारी ठाकुर वार्ड संख्या 09 के पार्षद प्रतिनिधि प्रदीप साह भाजपा नेता अमित सिन्हा ने स्वर्गीय कर्पूरी ठाकुर के तेल चित्र पर मालार्पण किया व पुषपांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दिए।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ठाकुरगंज नाई संघ अध्यक्ष कारी ठाकुर भाजपा नेता अमित सिन्हा पार्षद प्रतिनिधि प्रदीप साह ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने की मांग किए।सभी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि जननायक कर्पुरी ठाकुर का जन्म 24 जनवरी 1924 को भारत में ब्रिटिश शासन काल के दौरान समस्तीपुर के एक गांव पितौंझिया, जिसे अब कर्पूरीग्राम कहा जाता है, में नाई जाति में हुआ। निधन 17 फरवरी 1988 को हुआ। भारत के स्वतंत्रता सेनानी, शिक्षक, राजनीतिज्ञ तथा बिहार राज्य के दूसरे उपमुख्यमंत्री और दो बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं। लोकप्रियता के कारण उन्हें जन-नायक कहा जाता था। जननायक जी के पिताजी का नाम श्री गोकुल ठाकुर तथा माता जी का नाम श्रीमती रामदुलारी देवी था। इनके पिता गांव के सीमांत किसान थे तथा अपने पारंपरिक पेशा नाई का काम करते थे।भारत छोड़ो आन्दोलन के समय उन्होंने २६ महीने जेल में बिताए थे। वह 22 दिसंबर 1970 से 2 जून 1971 तथा 24 जून 1977 से 21 अप्रैल 1979 के दौरान दो बार बिहार के मुख्यमंत्री पद पर रहे।कर्पूरी ठाकुर का पत्नि का नाम कुलेश्वरी देवी था। मौके पर नाई संघ के सचिव जितेंद्र ठाकुर बंगाली ठाकुर शत्रुध्न ठाकुर तपन शिल रवि ठाकुर भाजपा कार्यकर्ता अनिल साह हरकिशन महराज ललित शर्मा बिस्नु कुंडू अमित देवनाथ सहित ठाकुरगंज नाई संघ के सभी सदस्य उपस्थित हुए।


Advertisements

Posted by : Raushan Pratyek Media

Follow On :


जरूर पढ़ें