दुमका :-गोड्डा के थैलेसीमिया पीड़ित एक बच्चे को ए नेगेटिव ब्लड की आवश्यकता थी। गोड्डा ब्लड बैंक में ब्लड ब्लड की व्यवस्था नहीं होने पर बच्चे के पिता दिलीप यादव काफी परेशान थे। अनलॉक में और कोई उपाय नहीं सूझने पर अपने बच्चे को साइकिल पर बैठाकर मंगलवार को ही दुमका के लिए निकला पड़ा जो बुधवार को दुमका पहुंचा। ब्लड बैंक से ए नेगेटिव ब्लड प्राप्त कर  डीएमसीएच दुमका में ब्लड चढ़वा रहे हैं।

भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी के सचिव अमरेंद्र कुमार यादव ने बताया कि ए नेगेटिव रेयर ब्लड ग्रुप है। सिर्फ 6 प्रतिशत लोगों में यह ग्रुप पाया जाता है। 11 जून को राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद के जन्मदिन पर आयोजित रक्तदान शिविर में एक यूनिट ए नेगेटिव रक्तदान हुआ था जो आज एक जरूरतमंद की जान बचाने में काम आ गया। थैलेसीमिया मरीज को महीने में किसी को एक तो किसी को 2 यूनिट तक रक्त की आवश्यकता पड़ जाती है। साधारणतः रेयर ग्रुप के ब्लड का रक्तदान न कराकर उसकी सूची तैयार कर कॉन्टैक्ट नम्बर ले कर रखा जाता है ताकि ब्लड बर्बाद न हो। 80 किलोमीटर साइकिल से सफर करने के बाद दुमका पहुँचने पर ब्लड बैंक में ब्लड पाकर उनके पिता काफी खुश थे। उन्होंने रक्तदाता और ब्लड बैंक को तहे दिल से धन्यवाद दिया।


 


जरूर पढ़ें

Grievance Redressal Officer (Any Complain Solution) Name: Raushan Kumar   Mobile : 8092803230   7488695961   Email : pratyak75@gmail.com