Live

गोपालगंज : गोपालगंज जिले के कटेया थाना क्षेत्र के रसौती मठ के महंत की देर रात हुई निर्मम हत्या  प्रकाश में आया है जहां रात के लगभग 11बजे अपराधियों ने रसौती मठ के पुजारी की निर्मम हत्या कर दी,

मृत महंत जिले के भोरे थाना क्षेत्र के सिसवा गांव निवासी कृष्णदेव उपाध्याय के 65 वर्षीय पुत्र

वशिष्ठ उपाध्याय बताए जा रहे हैं, प्राप्त जानकारी के मुताबिक  वर्ष 2012 में अपने एकलौती पुत्री की शादी इन्होंने भोरे थाना क्षेत्र के सिसवा गांव से ही की थी, आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण इन्होंने अपनी पैतृक जमीन बेचकर अपने पुत्री की शादी की थी,

जबकि उनकी पत्नी की मौत पूर्व में हो चुकी है, पुत्री के शादी के एक साल बाद इन्होंने अपने घर का परित्याग कर दिया और वर्ष 2013 में जिले के कटेया थाना क्षेत्र के रसौती गांव स्थित नाथ मंदिर पर चले गए, जहां नाथ मंदिर पर भव्य तरीके से चंडी महायज्ञ का आयोजन किया गया था इस यज्ञ में पूर्ण रूप से शरीक हुए और उसके बाद इन्होंने कभी अपने घर का रास्ता नहीं देखा,उसके बाद वह वहीं पर रहकर मठ में पुजा पाठ  किया करते थे,स्थानीय लोगों की बातों को माने तो महंत जी को किसी से कोई वैर विरोध या दुश्मनी नहीं था, वही इस निर्मम हत्या के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई हैं, स्थानीय लोगों की माने तो महंत जी की हत्या अपराधियों ने सर पर गोली मारकर की है जबकि जांच में जुटे कटेया,थाना अध्यक्ष सुमन कुमार मिश्रा अभी मामले की जांच पड़ताल कर रहे हैं वहीं घटनास्थल से पुलिस ने कई लाठी-डंडे के टुकड़े में खून लिपटे होने के कारण गोली मारकर हत्या करने के मामले से इंकार किया, वही कटेया थाना अध्यक्ष सुमन कुमार मिश्रा ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही यह पता चल पाएगा कि इनकी हत्या लाठी-डंडे से पीटकर की गई है या गोली मारकर, बरहाल महंत की हत्या किस कारण की गई है यह अब तक प्रकाश में नहीं आया है पुलिस  मामले की तहकीकात में जुटी है, वहीं इस घटना को लेकर स्थानीय ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना हुआ है।।

  


  




जरूर पढ़ें