Live

कोरोना वायरस के महामारी को देखते हुए 31 मार्च तक अनिश्चित कालीन धरना स्थगित

ब्यूरो रिपोर्ट पश्चिम चम्पारण

बेतिया। संविधान बचाओ फ्रंट बेतिया पश्चिमी चंपारण के प्रबंधन कमेटी की बैठक फ्रंट के अध्यक्ष मौलाना हसन माविया नदवी के अध्यक्षता में हुई ज्ञात हो कि सीएए, एनपीआर के विरुद्ध बेतिया शहर में फ्रंट के प्रधान में पिछले दो महीनों से धरना जारी है। लेकिन जिस प्रकार बिहार सरकार द्वारा पूरे शहरी क्षेत्र सहित प्रखंड मुख्यालय को भी लॉक डाउन किया गया है। क्योंकि करोना बीमारी एक महामारी का रूप धारण कर लिया है और बिहार सहित पूरे देश और बल्कि पूरी दुनिया में महामारी के रूप धारण कर चुका है। इसको देखते हुए फ्रंट के सभी सदस्यों ने इस बात पर आम सहमति बनाई कि जब तक बिहार में लाक डाउन जारी रहेगा। तबतक उस धरना को स्थगित रखा जाएगा। लेकिन मिजाजी तौर पर हमारा काला कानून के विरोध जारी रहेगा। क्योंकि आज हम सभी देश के हालात जैसी महामारी के कारण समाज और जनता के हित में धरना को स्थगित कर रहे हैं। जैसे ही हालात में सुधार होगा और बिहार सरकार द्वारा लगाए गए लक डाउन समाप्त होगा। हम पूरे जोर-शोर से धरना प्रदर्शन प्रदर्शन शुरू होगा और जबतक काला कानून सरकार द्वारा समाप्त नहीं हो जाता पूरे जोर-शोर से या धरना प्रदर्शन शुरू होगा, आज की बैठक में सभी सदस्यों ने भारत की जनता ने जिस साहस से कोरोना वायरस बीमारी से लड़ने के लिए क्षमता दिखाई है। वह सराहनीय है और उसे बरकरार रखते हुए बिहार सरकार ने जो लाक डाउन लगाई है। उसे भी सफल बनाने और सहयोग करने का अपील किया, साथ ही बिहार के सभी जिला अस्पतालों में प्रोडक्शन किट उपलब्ध कराते हुए सभी मुख्यालयों में फ्री जांच सेंटर बनाने और फ्री इलाज मुहैया कराने और उनके साथ दिहाडी मजदूरों के लिए राशन सरकार से मांग किया, बैठक में भाकपा माले केंद्रीय कमेटी सदस्य सह फ्रंट के सदस्य वीरेंद्र प्रसाद गुप्ता, एनसीपी के जिला अध्यक्ष प्रोफ़ेसर परवेज आलम आलम परवेज आलम आलम, मौलाना आमिर अराफात, मौलाना नजबुददीन कासमी, इनके जिला संयोजक फरहान राजा, माले नेता रविन्द्र कुमार रवि, सुनील कुमार यादव, मौलाना अबदुल्ल करीम कासमी, तनवीर आलम आदि लोगों ने अपने अपने विचार रखा। उक्त बातों की जानकारी भाकपा माले नेता सुनील कुमार यादव ने दिया।।


Posted by


जरूर पढ़ें