Live

शेखपुरा। बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले शिक्षको ने आक्रोश मार्च का आयोजन किया। प्राथमिक और मध्य विधालय के ये सभी शिक्षक 17 फ़रवरी से हड़ताल पर रहकर  स्कूलों से दूर आन्दोलन में लगे हैं। शिक्षकों के समूह का नेतृत्व समिति के नरेश शास्त्री कर रहे थे। उनके नेतृत्व में यह आक्रोश मार्च जिला शिक्षा कार्यालय से निकला। यह मार्च पटेल चौक होते हुए कटरा और चांदनी चौक के बाद समाहरणालय पंहुचा। आक्रोश मार्च में शामिल शिक्षक अपनी मांगो को लेकर जोर जोर से सरकार विरोधी नारा लगा रहे थे। पूरे रास्ते सभी शिक्षक हाथो में पोस्टर और बैनर के साथ सरकार विरोधी तख्तिया लिए हुए थे। बाद में समाहरणालय पहुचे आन्दोलनकारी शिक्षको का एक प्रतिनिधिमंडल डीएम से मिलकर अपना ज्ञापन सौंपा। शिक्षकों के शिष्टमंडल में विमल कुमार विमल, कमलेश कुमार, ललन कुमार, श्रवण कुमार, रवि कुमार शर्मा, चंद्रिका प्रसाद, अनिता कुमारी, निखत परवीन, आश्मीन खातून, भागीरथ प्रसाद, सहित बड़ी संख्या में शिक्षक गण मौजूद रहे। शिक्षक अपने मुख्य तीन मांगो पर जोर दे रहे थे।  आन्दोलनकारी नियमित शिक्षको के तरह वेतनमान और सेवा शर्त की मांग कर रहे थे।

 हड़ताल पर डटे शिक्षक पुराने शिक्षक के तहत पेंशन योजना भी लागु करने की मांग कर रहे थे।. शिक्षक मांगो की पूर्ति तक हड़ताल पर डटे रहने की घोषणा की।।


Posted by


जरूर पढ़ें