Live

शेखपुरा। हड़ताली शिक्षकों ने टीइटी शिक्षक संघ के बैनर तले मंगलवार को भिक्षाटन किया। 25 फ़रवरी से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर इन शिक्षको ने अपने आन्दोलन को तेज़ कर दिया है। शिक्षको ने भिक्षाटन से प्राप्त राशि को मुख्य मंत्री राहत कोष में डालने का निर्णय लिया है। ताकि इस राशि से शिक्षको को नियमति वेतन दिया जा सके। टीइटी शिक्षको के इस अनूठे आन्दोलन से सभी का ध्यान आकर्षित कर रहा था। भिक्षाटन को लेकर शिक्षको ने कई समूह बना रखे थे। शिक्षको ने हाथ में भिक्षा पात्र भी ले रखा था। भिक्षाटन को लेकर पूरे शरीर पर आन्दोलन से सम्बन्धित नारे भी लिख रखे थे। भिक्षाटन में बड़ी संख्या में शिक्षिका भी शामिल थी। भिक्षाटन के लिए साथ चल रहे शिक्षक हाथो में आन्दोलन और अपनी मांगो के सम्बन्ध में तख्तिया भी लिए हुए थे। नगर क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्रो में जाकर यह समूह ने आमलोगों और दुकानदारो से भिक्षाटन की याचना की। शिक्षको ने बताया कि उनका मुख्य मांग समान काम का सामान वेतन  और पुरानी पेंशन व्यवस्था लागु करने की मांग है। संघ के पदाधिकारी जगजीवन राम, कौशल कुमार, राकेश कुमार, अमित कुमार आदि भिक्षाटन में चल रहे थे. आन्दोलनकारी शिक्षक नियमित शिक्षक के समान वेतन और सेवा शर्तो की भी मांग कर रहे हैं। शिक्षको के खिलाफ सरकार द्वारा की जा रही वादा खिलाफी और पूर्व के समझौते को लागु नहीं करने का भी आरोप लगाया जा रहा था। गौरतलब है कि बड़ी संख्या में प्राथमिक और मध्य विधालय के शिक्षक 17 फ़रवरी से ही अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है। शिक्षको के हड़ताल में अब माध्यमिक शिक्षक भी शामिल हो गये है।।


Posted by


जरूर पढ़ें