Live

- सड़क पर फंसे वाहनों को निकलवाने घोरहट के मुखिया प्रतिनिधि शैलेश्वर नाथ मिश्रा व ग्रामीणों ने की मदद

 - जयप्रभा सेतु पर वाहनों का परिचालन बंद होने से मांझी-ताजपुर-सिसवन सड़क पर बढ़ा वाहनों का दबाव

रिपोर्ट : कमल सिंह सेंगर वीरेश सिंह 

छपरा ग्रामीण मांझी सारण : मांझी-ताजपुर-सिसवन मुख्य सड़क पर गैरतपुर गांव के समीप सोमवार की अहले सुबह एक बालू व दूसरा कोयला लदे ओवरलोड ट्रकों का टायर गड्ढा युक्त सड़क में धंसकर फंस गया। इसके चलते इस सड़क पर वाहनों का महाजाम लगा रहा। जिससे वाहनों का परिचालन दिन भर प्रभावित हुआ। इस दौरान मांझी के फत्तेपुर से लेकर ताजपुर से आगे जई छपरा, गयासपुर सिसवन तक वाहनों की कतारें इस सड़क पर लगी रहीं। इसके कारण आम जनमानस सहित वाहन चालकों में काफी नाराजगी नजर आयी।

उधर प्रशासनिक स्तर से इस सड़क पर जाम में फंसे वाहनों को निकालने के लिए पुलिस व प्रशासन की ओर से समुचित पहल नहीं की गई।

इसी बीच जनहित में मदद के लिए घोरहट पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि शैलेश्वर नाथ मिश्रा के नेतृत्व में जितेन्द्र सिंह, आरपी सिंह, भूअर प्रसाद, मूरत बिन, अवधेश राम आदि क्षेत्रीय ग्रामीणों ने जेसीबी वाहन मंगवाकर ट्रक चालकों की मदद हेतु क्षतिग्रस्त सड़क के गड्ढों में मिट्टी आदि का पटान करके फंसे वाहन को निकलवाने व सड़क जाम से निजात दिलाने सड़क जाम की स्थिति से निजात दिलाने की दिशा में सराहनीय पहल किया।

 सोमवार की सुबह लगभग पांच बजे से लेकर के शाम तक इस सड़क पर वाहनों का परिचालन ठप रहा। इसके चलते इस सड़क से होकर जिला मुख्यालय छपरा, मांझी, रिविलगंज, ताजपुर, जई छपरा, मटियार, एकमा, सिसवन, रघुनाथपुर, गुठनी, दरौली आदि स्थानों को परिचालित होने वाले वाहनों के परिचालन पर प्रतिकूल असर पड़ा। उल्लेखनीय है कि यूपी-बिहार को जोड़ने वाले जयप्रभा सेतु से होकर के वाहनों का परिचालन हाल ही में प्रतिबंधित/बंद किए जाने के बाद से इस सड़क से होकर ही सिवान, गुठनी, दरौली, आदि होकर के उत्तर प्रदेश के लिए भी वाहनों का परिचालन हो रहा है। वाहनों के इस सड़क पर दबाव से सड़क भी क्षतिग्रस्त हो रही है। बावजूद इसके प्रशासनिक स्तर से अनदेखी की जा रही है। 

सोमवार को अहले सुबह 5:00 बजे जब दो ट्रक कुछ अंतराल की दूरी पर इस सड़क पर धंस गए, तो इस सड़क पर महाजाम लग गया। इस सड़क पर यातायात को बहाल करने में देर शाम तक घोरहट के मुखिया प्रतिनिधि शैलेश्वर नाथ के सहयोग से ग्रामीण भी ट्रक चालकों की मदद हेतु जुटे रहे। 

इस बीच सड़क जाम की स्थिति से क्षेत्रीय ग्रामीणों ने अपना आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि जिला परिवहन पदाधिकारी द्वारा अवैध वसूली कर बेरोकटोक इस सड़क से होकर ओवरलोड मालवाहक वाहनों का परिचालन कराया जा रहा है। जिसके चलते ऐसी स्थिति उत्पन्न हो रही है।

उधर मांझी थानाध्यक्ष नीरज कुमार मिश्र ने बताया कि सड़क पर सलेमपुर और जई छपरा के समीप दो जगहों पर दो ट्रक सड़क में बने गड्ढों पर फंसे हुए हैं। वाहन चालक और स्वामी अपने स्तर से वाहनों को निकालने में जुटे हैं। बोलेरो आदि छोटे वाहनों का इस सड़क से होकर परिचालन हो रहा है।।


Posted by


जरूर पढ़ें