Live

रिपोर्ट-रूपेश कुमार

मुज़फ़्फ़रपुर : केंद्र सरकार देश मे युवा वर्गों के उत्थान के लिए शीघ्र राष्ट्रीय स्तर पर युवा आयोग का गठन करें, नहीं तो जिस कदर देश में बेकारी व बेरोजगारी बढ़ रही है आने वाले दिनों में यह राष्ट्र के  लिए बड़ी चुनौती बन जाएगी.

उक्त बातें रविवार को कांटी क्षेत्र के भगवतपुर स्कूल के मैदान में बेरोजगार नौजवानों को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री अजीत कुमार ने कहा। उन्होंने कहा की इस देश की आबादी का एक बड़ा हिस्सा नौजवानों का है। लेकिन आज पढ़े-लिखे बेरोजगार नौजवान रोजगार के अभाव में मुख्यधारा से विमुख हो रहे। जबकि समाज के अन्य वर्गों के उत्थान के लिए सरकार राष्ट्रीय स्तर पर कई आयोग का गठन कर कार्रवाई कर रही है। वही देश का युवा वर्ग आज उपेक्षित है ऐसे में केंद्र सरकार शीघ्र ही राष्ट्रीय स्तर पर युवा आयोग का गठन कर, देश के पैमाने पर युवाओं के दशा दिशा का आकलन कराए एवं उन्हें रोजगार का अवसर प्रदान करें। श्री कुमार ने कहा कि रोजगार के अवसर मुहैया होने  तक केंद्र सरकार बेरोजगारों को प्रतिमाह ₹5000 बेरोजगारी भत्ता दे.

श्री कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से देश में हो रहे फिजूलखर्ची को रोकने एवं उन पैसों से युवा वर्गों के उत्थान के लिए एक आकस्मिक कोष बनाने की भी मांग किया। श्री कुमार ने बैंकों द्वारा बेरोजगारों की उपेक्षा किए जाने पर गहरा आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि यदि बैंकों का सकारात्मक सहयोग बेरोजगार नौजवान को मिले तो बहुत हद तक उनकी बेरोजगारी दूर हो सकती. सरकार इसके लिए भी कारगर पहल करें.

उन्होंने किसानों के  सवाल पर बोलते हुए कहा कि इस इलाके में जंगली जानवरों का आतंक बदस्तूर जारी है। किसान परेशान है । उन्हें सुनने वाला कोई नहीं है। होली पर्व के बाद हम फिर से जंगली जानवरों के आतंक से मुक्ति दिलाने के लिए जिला स्तर पर अभियान चलाएंगे.

कार्यक्रम की अध्यक्षता पैक्स अध्यक्ष राजेश कुमार यादव ने  तथा संचालन  भिखर रजक  ने किया। मौके पर सभा को राजकुमार साह, रामबालक राय, उपेंद्र राय, भोला राय, विनोद सिंह, शंभू कुमार भगत, विक्रम कुमार, अरुण भगत , बिशुनधारी साह, रामस्वरूप साह, सूरज देव यादव, महेंद्र राम, मनोज राम, शशि कुमार, रम्भू राम, प्रफुल्ल कुमार, प्रभात कुमार आदि लोगों ने सभा को संबोधित किया ।।


Posted by


जरूर पढ़ें