Live

शेखपुरा। बिहार प्रदेश जीविका कैडर संघ के बैनर तले अपनी 10 सूत्री मांगों के समर्थन में मंगलवार को जीविका कैडर और दीदियों ने शहर में विशाल जुलूस निकाला। जुलुस इस्लामिया हाई स्कूल मैदान से निकलकर समाहरणालय तक पहुंचा। जुलूस में शामिल जीविका कैडरों और दीदियों ने सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की।  मौके पर संघ के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप कुमार सिंह ने कहा कि जीविका महिला सशक्तिकरण के लिए बिहार सरकार की एक परियोजना है। जिससे बिहार की करोड़ों महिलाएं जुड़ी हुई है। जो विभिन्न सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। मानव श्रृंखला, वित्तीय साक्षरता, शराबबंदी, मनरेगा सर्वेक्षण, विद्यालय निरीक्षण, स्वच्छता और शौचालय निर्माण योजना इसके कई उदाहरण है। इसके बावजूद सरकार हम लोगों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही हैं। सरकार जीविका को सिर्फ वोट बैंक के रूप में देखती है और यूज़ करती है लेकिन अब यह सब चलने वाला नही है सरकार अगर हमारी 10 सूत्री मांगों को नहीं मानती है जीविका से जुड़े करोड़ों जमीन स्तर के कार्यकर्ता और जीविका दीदियां आगामी विधानसभा चुनाव में वर्तमान सरकार के विरुद्ध बटन दबाएंगे। वही संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष जितेंद्र शर्मा ने कहा कि जीविका सिर्फ कहने को रह गई है महिला सशक्तिकरण की परियोजना, यहां सिर्फ लूट खसोट, शोषण और प्रताड़ना चल रहा है सरकार को हमारी जायज मांगों के साथ-साथ इन सब मुद्दों पर भी पहल करनी चाहिए। प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा की सरकार सभी संगठनों की मांग मान रही है पर जीविका के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है अब तेज आंदोलन छेड़ा जायेगा। वही जिलाध्यक्ष सूरज कुमार ने कहा कि सरकार को चाहिए कि संघ की मांगों पर गंभीरता पूर्वक विचार करें नहीं तो सरकार अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहें ।आंदोलन में विनीता कुमारी, राजेश कुमार, सुबोध कुमार, अनिल दास, खुशबु कुमारी, बिरेन्द्र कुमार, नीलम भारती, दिलेश्वर कुमार, रोशन कुमार, शोभा देवी, पिंकी देवी, मधु देवी, चंदा कुमारी, नीतू कुमारी सहित सैकड़ों कैडर और दिदिया शामिल थे।।


Posted by

Pawan Kumar


जरूर पढ़ें