Live

मधेपुरा। विश्वविद्यालय के सभी महाविद्यालयों का नैक मूल्यांकन किया जाना है। इस दिशा में प्रयास जारी है, लेकिन अपेक्षित सफलता नहीं मिल पाई है। इसलिए नैक मूल्यांकन को गंभीरता से लेते हुए इसके सभी बिंदुओं पर ध्यान देना जरूरी है। यह बात कुलपति डाॅ. अवध किशोर राय ने कही। वे बुधवार को केन्द्रीय पुस्तकालय सभागार में सभी अंगीभूत महाविद्यालयों के  प्रधानाचार्यों की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। 

कुलपति ने सभी प्रधानाचार्यों को निदेश दिया कि नैक मूल्यांकन को प्राथमिकता दें और इसके लिए सभी आवश्यक कदम उठाएं। सिर्फ भवन निर्माण पर जोर नहीं दें। नैक  हेतु जो भी मापदंड निर्धारित हैं, सबों को पूरा करने का प्रयास करें। लगातार प्रगति की समीक्षा करते रहें और कमियों को दूर करें।  


कुलपति ने सभी प्रधानाचार्यों को सख्त निर्देश दिये कि वे नैक मूल्यांकन की प्रक्रिया अविलंब पूरी करें। इस कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 


केंद्र एवं राज्य सरकार, यूजीसी और अन्य दाता एजेंसियों से प्राप्त अनुदानों का उपयोगिता प्रमाण-पत्र अविलंब सीसीडीसी कार्यालय में जमा करें।


खेल से संबंधित कार्यक्रमों को बढ़ावा देने हेतु नोडल कॉलेजों को विशेष रूप से हिदायत दी गई। सभी काॅलेजों को नियमित रूप से खेल गतिविधियों करने का निदेश दिया गया। सभी पीटीआई को प्रतिदिन मैदान में समय देने और विद्यार्थियों को खेल प्रशिक्षण देने के निदेश दिये गये। जिस कॉलेज में पीटीआई का पद रिक्त है, उसे विश्वविद्यालय की अनुमति से बहाल करने के निदेश दिए गए।


सभी बी एड संचालित कॉलेज से छात्रो से संबंधित सूचना सॉफ्ट एवं हार्ड कॉपी मांगी गयी है 3-4 दिनों में में जमा करने का निर्देश दिया गया है।

[10/16, 5:10 PM] SUDHANSHU SHEKHAR: महाविद्यालय में वोकेशनल एवं proffesional कोर्स के निर्धारित सीट संख्या फ़ीस एवं राजभवन द्वारा कोर्स की स्वीकृति का पत्र भी भेजने को कहा गया।

[10/16, 5:11 PM] SUDHANSHU SHEKHAR: महिला छात्र फ़ीस की क्षतिपूर्ति के लिए 3 सत्र 2016-17,2017-18,2018-19. की छात्रा का विवरणी प्रपत्र में उपलब्ध कराना सुनिश्ति करना। जिन महाविद्यालय से गर्ल्स टॉयलेट, बायोमैट्रिक एटेंडेंस सिस्टम एवं सीसीटीवी का प्रस्ताव मांगा गया है। छात्राओं के फीस की क्षतिपूर्ति के लिए 3 सत्र 2016-17,2017-18,2018-19. की छात्रा का विवरणी प्रपत्र में उपलब्ध कराना सुनिश्ति करना है।


*उपस्थित*


इस अवसर पर प्रति कुलपति डॉ. फारूक अली, वित्त परामर्शी सुरेश चंद्र दास, डीएसडबल्यू डाॅ. शिवमुनि यादव, कुलसचिव डाॅ. कपिलदेव प्रसाद, नोडल पदाधिकारी डाॅ. अशोक कुमार सिंह, टी. पी. काॅलेज, मधेपुरा के प्रधानाचार्य डाॅ. के. पी. यादव, बीएसएस काॅलेज, सुपौल के प्रधानाचार्य डाॅ. संजीव कुमार, बीएनएमभी काॅलेज मधेपुरा के प्रधानाचार्य डाॅ. के. एस. ओझा, आर. एम. काॅलेज, सहरसा के प्रधानाचार्य डाॅ. अनिलकांत मिश्र, एमएलटी काॅलेज, सहरसा के प्रधानाचार्य डाॅ. डी. एन. साह, एचएस. कालेज, उदाकिसुनगंज के प्रधानाचार्य डाॅ. जगदेव प्रसाद यादव, एमएचएम काॅलेज, सोनवर्षा के प्रधानाचार्य डाॅ. अशोक कुमार सिंह, मधेपुरा काॅलेज, मधेपुरा के प्रधानाचार्य डाॅ. अशोक कुमार, यूभीके काॅलेज, कड़ामा के प्रधानाचार्य डाॅ. माधवेन्द्र झा, पीआरओ डाॅ. सुधांशु शेखर  आदि उपस्थित थे।


Posted by

Raushan Pratyek Media


जरूर पढ़ें