Live

:- राहुल कुमार की रिपोर्ट

रक्सौल पूर्वीचम्पारण। अनुमंडल व प्रखंड स्तर पर कैम्प लगाकर ड्राइविंग लाइसेंस एवं नवीकरण की व्यवस्था के साथ वाहन बीमा एवं प्रदूषण प्रमाण पत्र निर्गत किये जाने की मांग डा. स्वयंभू शलभ ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से की है।इधर,इस पर एक्शन लेते हुए मुख्यमंत्री में परिवहन विभाग के मुख्य सचिव को इस सुझाव को ले कर निर्देशित किया है।

अपने मांग पत्र में डा. शलभ ने लिखा है कि 1 सितंबर से देश में नया मोटर वाहन अधिनियम लागू हो गया है जो यातायात और जीवन की सुरक्षा की दृष्टि से स्वागत योग्य कदम है। इससे लोगों में कानून का डर पैदा होगा, सड़क दुर्घटना में कमी आएगी और यात्रा सुरक्षित होगी।

यातायात नियम तोड़ने पर जुर्माने की राशि कई गुना बढ़ा दी गई है। कई जगहों पर ट्रैफिक पुलिस की सख्ती के कारण अप्रिय स्थिति भी बन रही है। हर रोज ऐसी खबरें आ रही हैं।

नये नियम को कड़ाई से लागू किये जाने के पूर्व सरकार को कुछ विन्दुओं पर ध्यान देना जरूरी है,ताकि,आम वाहन चालक बेवजह परेशान न हो।

उनके मुताबिक,आज भी नया ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना या पुराना लाइसेंस रिन्यू कराना आसान काम नहीं है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने के बाद भी कई बार डीटीओ ऑफिस का चक्कर लगाना पड़ता है। यह ऑफिस जिला मुख्यालय में होने के कारण लोगों को आने जाने में भी परेशानी का सामना करना पड़ता है और इस प्रक्रिया में समय भी अधिक लगता है।

मौजूदा समय में अनुमंडल व प्रखंड स्तर पर कैम्प लगाकर ड्राइविंग लाइसेंस बनाने एवं नवीकरण करने की व्यवस्था के साथ वाहन बीमा एवं प्रदूषण प्रमाण पत्र निर्गत किया जाना आवश्यक है। आम लोगों के लिए यह व्यवस्था सरल और सुविधाजनक  होगी तो सभी अपने वाहन संबंधी कागजात/सर्टिफिकेट भी दुरुस्त रखेंगे और ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन भी नहीं होगा।

साथ ही इस नियम के पूर्ण रूप से अनुपालन और सफलता के लिए जन जागरूकता भी जरूरी है। सख्ती करने के पूर्व स्थानीय प्रशासन को इन नियमों के अनुपालन से लाभ और इनकी अनदेखी करने से होने वाले नुकसान के बारे में आम लोगों को सचेत करना भी जरूरी है।


Posted by

Raushan Pratyek Media


जरूर पढ़ें

Stay Connected