Live

- मोतिहारी से नेपाल के बारा जिला के अमलेखगंज तक 69 किलोमीटर लंबी है पाइप लाइन ।

:- राहुल कुमार की रिपोर्ट

अमलेखगंज (बारा नेपाल)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व पीएम केपी ओली ने  मंगलवार को पूर्वी चंपारण के मोतिहारी-अमलेखगंज (नेपाल) पेट्रोलियम उत्पाद पाइपलाइन का संयुक्त रूप से उद्घाटन किया।यह दक्षिण एशिया की पहली क्रॉस-बॉर्डर पेट्रोलियम उत्पादों की पाइपलाइन है।दिल्ली के हैदराबाद हाउस से पीएम मोदी ने नेपाल के सिंह दरबार से नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस पाइपलाइन को उद्घाटन किया।इस अवसर पर नेपाल के बारा जिला के अमलेखगंज में एक समारोह का आयोजन भी किया गया था।उद्घाटन के माहौल तालियों से गूंज उठा।पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह बहुत संतोष का विषय है कि दक्षिण एशिया की यह पहली क्रॉस-बॉर्डर पेट्रोलियम पाइपलाइन रिकॉर्ड समय में पूरी हुई है। जितनी अपेक्षा थी, उससे आधे समय में यह बन कर तैयार हुई है. इसका श्रेय आपके नेतृत्व को, नेपाल सरकार के सहयोग को और हमारे संयुक्त प्रयासों को जाता है।


बता दे कि भारत और नेपाल ने 325 करोड़ रुपये की लागत वाली मोतिहारी-अमलेखगंज तेल पाइपलाइन का पिछले माह सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया था।कुल 69 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन परियोजना का सबसे पहले 1996 में प्रस्ताव किया गया। हालांकि, परियोजना को वास्तविक रूप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 2014 में हुई काठमांडू यात्रा के बाद मिला।सितम्बर 2018 में भारत के पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने अमलेखगंज में इस प्रॉजेक्ट का भूमि पूजन किया था।इस प्रोजेक्ट को 30 माह में पूरा करने का लक्ष्य था।लेकिन,एक वर्ष में ही इसे पूर्ण कर चालू कर दिया गया।

उन्होंने उद्घाटन के बाद कहा कि-यह दोस्ती की पाइप लाइन है।इससे नेपाल और भारत के रिश्ते को मजबूती मिलेगी।साथ ही रक्सौल बीरगंज में टैंकर से लगने वाले जाम की समस्या से भी मुक्ति मिलेगी।इधर,सांसद डॉ0 संजय जायसवाल ने कहा कि इससे भारत-नेपाल पेट्रोलियम आपूर्ति में सुविधा होगी।प्रतिवर्ष दो अरब रुपये की बचत होगी।


Posted by

Raushan Pratyek Media


जरूर पढ़ें

Stay Connected