Live

:- गोड्डा झारखंड से संजीव कुमार झा की रिपोर्ट

झारखंड। गोड्डा मुख्य मार्ग पर सुगाथन पुल के पास शुक्रवार की अहले सुबह एक बोलेरो 25 फीट गहरी पुल के नीचे गिर गया। इस दुर्घटना में गाड़ी चला रहे गाड़ी मालिक राजन उपाध्याय उसका सहयोगी बाल-बाल बच गए। लोगों को आश्चर्य कि इतना गहरी खाई में बोलेरो गिरने के बाद भी ना तो बोलेरो में ज्यादा क्षतिग्रस्त हुई है और ना ही उसके चालक एवं सहयोगियों ही इसे ही कहते हैं जाको राखे साइयां मार सके ना कोई।

घटना के संबंध में गाड़ी ओनर राजेंद्र उपाध्याय ने बताया कि वह जमशेदपुर से धोबाय आरहार बिहार जा रहा था कि इसी बीच एनएच पर रखें मिट्टी के ढेर में गाड़ी जाकर अनियंत्रित हो गई और गहरी खाई में गिर गई। जिसमें उसे दाहिने हाथ पसली एवं मुंह पर चोट आई है।

गाड़ी से हुई सामानों की चोरी  राजन उपाध्याय ने बताया कि वे लोग गाड़ी दुर्घटना के बाद गाड़ी लॉक करके जब जेसीबी और अन्य लोगों को बुलाने गए । इस बीच आठ और नौ बजे के बीच में पीछे का ताला तोड़कर, शीशा तोड़कर स्टैपनी, सपोर्ट ,पाना, चेक बुक ,पासबुक एवं गाड़ी का कागजात अज्ञात चोरों द्वारा चुरा ले गया।                        इस दुर्घटना का मूल कारण एन एच के पदाधिकारियों का अविवेकपूर्ण निर्णय बताया जा रहा है । सुगाथान पुल के पास नई पुल बनने के बाद पुराने पुल को आवागमन रोकने के लिए पुल के दोनों और स्टोन डस्ट का ढेर लगा दिया गया है ताकि गाड़ी उस पुल से आवागमन नहीं कर सके। अक्सर रात के अंधेरे में गाड़ी चालक को वह दिखाई नहीं पड़ती है और उसे ढेर में फंसकर अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त हो जाती है । 15 दिन पूर्व एक ट्रक भी इसी तरह दुर्घटनाग्रस्त हो गया था ।वह भी पुल के नीचे जाने से बाल-बाल बच गया था। लोगों का कहना है कि वही मिट्टी अगर और पहले ही दे दिया जाता तो ऐसी दुर्घटनाएं नहीं होती। वैसे भी सुगाथन पुल के पास घुमावदार मोड़ होने के कारण दुर्घटनास्थल बन गया है । आए दिन कई लोगों के सड़क दुर्घटना में मौत भी हो गई है। कई बार ग्रामीणों ने कुछ पेड़ की डाली और झाड़ी को साफ करने की मांग की है। जिसे अभी तक नहीं किया जा सका है ।

पुलिस के सहयोग से गाड़ी को गहरे खाई से निकाला जा रहा है । पुलिस मामले की जांच कर रही है।


Posted by

Raushan Pratyek Media


जरूर पढ़ें