Live

:- अरवल से तबरेज़ अंसारी के रिपोर्ट

अरवल जिला में बीते रात असमाजिक तत्वों ने अधिवक्ताओं के कुछ आशियाना जहां वे बैठ कर न्यायिक कार्य निबटारा करते हैं को तोड़ दिया...

जिसके कारण जिला बार एसोसिएशन की आपात बैठक बुलाई गई.. प्रस्ताव पारित कर के इस कारवाई की निंदा किया गया.. बैठक में ही अधिवक्ता से उलझने वाले अभियुक्तों के भाई एवं अन्य नजदीकी रिश्तेदारों ने लिखित माफीनामा दिया. एक अभियुक्त की पत्नी ने कल ही जिला बार के अध्यक्ष को लिखित माफीनामा देते हुए क्षमा करने की याचना की थी। साथ इन लोगों ने कहा कि रोड जाम या अधिवक्ताओं के खिलाफ प्रेस बयान में हम हमारे परिवार के लोगों की कोई सहभागिता या सहमति नहीं है और न ही सहमति है.. कुछ लोग इसमें अपनी राजनीतिक रोटी सेंकने लगे हैं.. हमारा परिवार ऐसे बयान की निंदा करते हैं.. भविष्य में हम लोगों के द्वारा ऐसी कोई गलती नहीं किया जाएगा।हमलोगों से अधिवक्ताओं पर मुकदमा भी जबरन दबाव बना कर करवाया गया है.. 

   बैठक में काफी बिचार के बाद इस मामले को समाप्त करने /मुकदमे को खत्म करने का फैसला लिया गया.

परंतु थानाध्यक्ष को मुअतल करने की मांग जारी रहेगी.. कोर्ट परिसर में स्थाई सुरक्षा बल की तैनाती की मांग को लेकर अधिवक्ता संघ संघर्षरत रहेगी।

अध्यक्ष बिनोद कुमार सचिव योगेन्द्र सिंह, राधाकांत शर्मा, निसार अख्तर अंसारी पशुपतिनाथ, अनिल शर्मा शैलेश शर्मा, बलिराम पाठक, चन्द्रमा सिंह सिद्धेश्वर सिंह, अरुण कुमार, रामउदय उपाध्याय, अखिलेश सिंह कमलेश कुमार और मनोज कुमार सहित सैकड़ों अधिवक्ता उपस्थित थे आज अधिवक्ताओं ने अपने आप को न्यायिक कार्य से अलग रखा।

  


  




जरूर पढ़ें