Live

- बच्चों को उचित शिक्षा देने विषयक कार्यशाला आयोजित ।

बरबीघा। रविवार के दिन शहर के एक्सचेंज रोड स्थित प्रतिष्ठित विद्यालय जीआईपी पब्लिक स्कूल परिसर में सभी तीनो शाखाओं के शिक्षकों की कार्यशाला आयोजित की गई। जिसमें “आज के बदलते परिवेश में बच्चों को स्तरीय शिक्षा कैसे” विषय पर मुख्य रूपसे चर्चा की गई। आज जबकि पढ़ाई से ध्यान हटाने के कई साधन उपलब्ध हैं। चाहे चौबीस घंटे टीवी पर आने वाले अन्य तरह के धारावाहिक हो या स्मार्ट फोन तक बच्चों की पहुंच इससे बच्चे न सिर्फ अपनी किताबों से दूर होते जा रहे हैं। बल्कि वे खेल के मैदान से भी दूर होते जा रहे हैं। जिससे उनकी बौद्धिक और शारीरिक दोनों विकास बाधित हो रही है। इसके अलावा बच्चों में हिंसा की बढ़ती प्रवृत्ति का भी यह मुख्य कारण है।. ऐसे में उन्हें अपनी पढ़ाई के प्रति जिम्मेवार कैसे बनाया जाए चर्चा का मुख्य विषय रहा। इस विषय पर जीआईपी स्कूल ग्रुप के निदेशक विनय कुमार ने सरकार से अपील किया कि इंटरनेट उपलब्धता की एक समय सीमा होनी चाहिए तथा इस पर क्या दिखाया जाए। इस पर भी सरकार का अंकुश होना चाहिए ताकि बच्चे वही देख सकें जो उनको देखना चाहिए जो उसके काम की चीज हो

 उपरोक्त विषय के संबंध में जीआईपी पावापुरी के प्राचार्य सुभाष चंद्र राय ने अपने विचार रखते हुए अभिभावकों को बच्चों से जुड़ने की अपील की ताकि बच्चे अपनी समस्या उनसे शेयर कर सकें। वहीं मौके पर जीआईपी पकरीबरावां के प्राचार्य दीप राय चामलिंग ने बच्चों पर ज्यादा शक्ति न करते हुए पढ़ाई को रोचक बनाने पर जोर दिया ।ताकि बच्चे सारी चीजों को छोड़ कर पढ़ाई की तरफ आकर्षित हो सकें। पकरीबरावाँ शाखा के उप निदेशक रंजीत रंजन जो भारतीय आर्मी से सेवानिवृत्त हैं, उन्होंने भी बच्चों को अनुशासित होकर काम करने की अपील की। वहीं विपिन कुमार ने भी बच्चों को अच्छी शिक्षा पर बल दिया। तीनों शाखाओं के अन्य शिक्षकों ने भी अपने अपने विचार रखे तथा ईमानदारी पूर्वक इसे लागू करने की प्रतिबद्धता दिखाई। कार्यक्रम के अंत में अतिथियों का स्वागत बरबीघा शाखा के प्राचार्य संजय कुमार ने किया। उन्होंने अपने संबोधन में शिक्षकों से बच्चों के साथ जुड़ने की अपील की ।उन्होंने कहा कि अकेलापन बच्चों के लिए आज समस्या बनते जा रही है। इससे बच्चे भटकाव के रास्ते पर चल रहे हैं। उन्हें अपने से जोड़ने और भावनात्मक आत्मीयता दिखाने की जरूरत है।


Advertisements

Posted by : Raushan Pratyek Media

Follow On :


जरूर पढ़ें

Stay Connected