Live

गौनाहा: रमपुरवा गांव में रविवार को जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच अतिक्रमण की जमीन को खाली कराने पहुंचे सीओ राजीव रंजन कुमार श्रीवास्तव गौनाहा,सहोदरा व  मटियरिया पुलिस बल को रविवार को वापस लौटना पड़ा। विदित हो कि रमपुरवा निवासी शंभू चौधरी व उनके पड़ोसी नईम खा के बीच वर्षों से जमीन का विवाद चल रहा था। शंभू चौधरी ने इस संबंध में लोक जन शिकायत में एक मामला दर्ज कराई थी। लोक जन शिकायत कार्यालय नरकटियागंज द्वारा गौनाहा सीओ को यह आदेश दिया गया था कि सर्वे सड़क के किनारे जो अतिक्रमण की जमीन है उसे खाली कराया जाये। यही कारण है कि रविवार को सीओ गौनाहा, सहोदरा व मटियरिया पुलिस दलबल के साथ अतिक्रमण की गयी जमीन पर बनाए गए झोपड़ी को उजाड़ने हेतु पहुंची। वहां की ग्रामीण महिला पुरुष इस बात पर अडे रहे कि अगर गरीब की झोपड़ी उजडती है तो यहां 28 परिवारों द्वारा सड़क की जमीन को अतिक्रमण किया गया है उसे भी उजाड़ा जाये। इधर शंभू चौधरी द्वारा सीओ को झोपड़ी के साथ-साथ उसके इंद्रावास के नीव को भी तोड़वाने की बात जब कही गयी तो सीओ ने   कहा कि सर्वे सड़क के किनारे की जमीन को खाली कराने हम लोग पहुंचे है।  शंभू चौधरी का दावा था कि विवादित जमीन के बगल में नाला का जमीन भी है उसे भी खाली कराया जाये।  इधर सीओ आक्रोशित हो गए कि नाला का जिक्र आदेश में नहीं है इसीलिए उस जमीन को खाली नहीं कराया जाएगा। सीओ का कहना है कि नईम खा  की पत्नी लालमुन नेशा द्वारा भी एक आवेदन अंचल कार्यालय को  दिया गया है। जिसमें उन्होंने रामपुरवा सर्वे सड़क के किनारे 28 लोगों के द्वारा जमीन अतिक्रमण करने की बात बतायी गयी है। उन्होंने कहा कि  रामपुरवा के 28 लोगों को नोटिस भेजकर सर्वे सड़क के किनारे की जमीन को खाली करायी जायगी।


Posted by

Raushan Pratyek Media


जरूर पढ़ें

Stay Connected