Live

:- रंजीत भोजपुरिया की रिपोर्ट

- परीक्षार्थियों को बेवजह निष्कासित कर उनके भविष्य से खिलवाड़ कर रहा है विवि प्रशासन।    

छपरा। 25 अगस्त 2019 को ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) सारण जिला इकाई के जिला सचिव राहुल कुमार यादव ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा की जेपी विवि में चल रहे स्नातक पार्ट-2 के परीक्षा में एक षड्यंत्र के तहत, परीक्षार्थियों को परीक्षा में चिट-पुर्जे का इस्तेमाल एवं चोरी करने का झूठे इल्जाम लगाकर बेवजह  लगातार परीक्षार्थियों को निष्कासित कर उन्हें परीक्षा से बाहर किया जा रहा है। कमरे में चिट-पुर्जे मिल रहे हैं तो सिर्फ परीक्षार्थी हीं दोषी कैसे हो सकते हैं। जबकि सीसीटीवी कैमरे से निगरानी की जा रही है और कमरे के अंदर तीन-तीन वीक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है। बड़े पैमाने पर निष्कासन की कार्रवाई से सीसीटीवी कैमरे से निगरानी व वीक्षकों की ड्यूटी पर सवाल उठना लाजिमी है। उन्होनें कहा कि जेपी विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा परीक्षा में कराई के नाम पर परीक्षार्थियों का आर्थिक व मानसिक शोषण कर उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

स्नात्तक पार्ट-टू की परीक्षा में पिछले 17 अगस्त (शनिवार) को रिकॉर्डतोड़ 77 परीक्षार्थियों को निष्कासित कर दिया गया था और एक बार फिर से 24 अगस्त (शनिवार) को 59 परीक्षार्थियों को कदाचार के नाम पर बेवजह निष्कासित कर दिया गया। 16 केंद्रों पर चल रही परीक्षा में कुछ केंद्रों को टारगेट कर दुर्भावना से ग्रसित होकर जांच दल द्वारा ऐसी कार्रवाई की जा रही है।

जिला सचिव ने कहा कि एक तरफ निर्दोष परीक्षार्थियों को बेवजह परीक्षा से निष्कासित कर उनका शोषण किया जा रहा है वहीं दूसरी तरफ बेवजह निष्कासन से परेशान परीक्षार्थियों के परिवारजनों के उपर झूठे मुकदमें दर्ज कर उन्हें फंसाये जाने की साजिश की जा रही है। 

हमारा संगठन (एआईएसएफ) कभी भी कदाचार का समर्थन नहीं करता है, लेकिन कदाचार को रोकने के नाम पर इस तरह की कार्रवाई को हम कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। हमारे संगठन का एक दल जल्द ही कुलाधिपति महोदय से मिलेगा और विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा की जा रही छात्रहितों की अनदेखी एवं दुर्भावना से ग्रसित होकर परीक्षार्थियों पर की जा रही कार्रवाई की शिकायत करेंगे। अगर आने वाले दिनों में  सुधार नहीं हुई तो छात्रहित में संगठन उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगा।


Posted by

Raushan Pratyek Media


जरूर पढ़ें

Stay Connected