Live

- मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी कारबाई के लिए 3 दिन का समय मांगा।

- एबीवीपी के नेता नामांकन के नाम पर छात्रों से करते अवैध वसूली।

प्रियांशु कुमार की रिपोर्ट

समस्तीपुर जिले के बीआरबी कालेज में कर्मी को मिलाकर एबीवीपी के नेताओं द्वारा नामांकन में अवैध वसूली रोकने की मांग पर लगातार आंदोलन चलानेवाले छात्रसंघ के जीते महासचिव सह आइसा राज्य कार्यकारिणी सदस्य लोकेश राज,आइसा जिला नेता राजू झा के साथ मारपीट, गाली-गलौज करने  वाले 20 अगस्त को जेल से छुटकर आये एबीवीपी नेता अजय राय को कालेज से बर्खास्त करने की मांग पर पूर्व घोषित आइसा द्वारा बीआरबी कालेज में प्रदर्शन के दौरान अजय राय के नेतृत्व में एबीवीपी गुंडे द्वारा असामाजिक तत्वों को कालेज परिसर में लाकर प्रदर्शन को बाधित करने की कोशिश से जुटे आइसा कार्यकर्ता और उग्र हो गये। बीआरबी कालेज गेट से अपने-अपने हाथों में झंडे, बैनर एवं मांगों से संबंधित नारे लिखे तख्तियां लेकर जुलूस निकालकर कालेज परिसर में जमकर प्रदर्शन किया। इस दौरान मौके पर पहुंचे पुलिस पदाधिकारी ने आइसा के डेलीगेट को लेकर प्रिंसिपल के प्रकोष्ठ में  ले जाकर वार्ता कराई। आरोपियों पर कारबाई के लिए 3 दिन का मोहलत लेकर प्रदर्शन को समाप्त कराया गया। नेतृत्व आइसा जिला अध्यक्ष सुनील कुमार, लोकेश राज, राजू झा, मनीष राय, मान्य राय, मनीषा कुमारी,अविनाश राय, गंगा पासवान, प्रिति कुमारी,सौरभ कुमार, आशीष कुमार देव, अभिषेक प्रसाद यादव, राजाज्ञकुमार, सुमन कुमार, सुधांशु कुमार, प्रभा कुमारी, निशा कुमारी,राजू कुमार, प्रेम कुमार समेत अन्य आइसा नेताओं ने की।

एबीवीपी के हमला के राजनीति पर आइसा जिलाध्यक्ष सुनील कुमार ने कहा कि आइसा के कार्यकर्ता छात्रहित की रक्षा के लिए जान तक देने को तैयार है। चाहे जो हो कालेज में एबीवीपी की गुंडागर्दी एवं अवैध वसूली का आइसा विरोध करती रहेगी। पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष मनीष राय ने कहा कि एबीवीपी का लंपटीकरण हो गया है। पूर्व महासचिव अविनाश राय ने कहा कि कालेज की राजनीति में हमला का कोई जगह नहीं है। भाकपा माले जिला सचिव प्रति उमेश कुमार ने एक व्यान जारी कर कहा है कि आइसा पर हमला होगा तो आइसा और माले हमलावर पर मिठाई नहीं फेंकेगी।उक्त आशय की जानकारी आइसा जिला सचिव चंदन कुमार बंटी ने दी।


Posted by

Raushan Pratyek Media


जरूर पढ़ें

Stay Connected