- बिहार डीजीपी के फरमान का पूर्णिया में नहीं दिख रहा असर, गत दिनों उन्होंने कहा था ड्रेस कोड का पालन नहीं करने वालों पर होगी कार्रवाई ।

पूर्णिया से कुमार गौरव

पूर्णिया : गत दिनों सूबे के डीजीपी एसके सिंघल ने पुलिस विभाग के सभी कर्मचारियों के लिए एक फरमान जारी किया था। डीजीपी के आदेश के अनुसार यदि पुलिसकर्मी ड्यूटी के दौरान वेल ड्रेस यूनिफॉर्म कोड (अच्छी तरह से वर्दी पहनना) का पालन नहीं करेंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी...। आदेश में डीजीपी ने माना था कि बिहार पुलिस के कई जवान वर्दी पहनने में लापरवाही बरतते हैं या फिर सही तरीके से वर्दी नहीं पहनते हैं। इससे जनता की नजरों में पुलिस की छवि धूमिल होती है। डीजीपी ने दिशा निर्देश में कहा था कि कई बार यह देखा गया है कि ड्यूटी के दौरान पुलिस अधिकारी वर्दी के बजाय अन्य लिबास पहने रहते हैं या फिर उनकी वर्दी पहनने या वर्दी का रखरखाव भी निर्धारित मापदंड के अनुसार नहीं होता है। जो गलत है।


कुछ इस तरह रहता है हमारे पुलिस कर्मियों का ड्रेस कोड ।

कुछ ऐसा ही नजारा शनिवार को पूर्णिया के सदर थाना अंतर्गत कटिहार मोड़ के पास देखने को मिला। इनका नाम विष्णु भगवान सिंह ASI तथा उनके साथ जो पुलिस कर्मी है दोनों डीजीपी के आदेश की धज्जियां उड़ा रहे है*। बताते चलें ये पुलिस कर्मी डीजीपी के आदेशों की अवहेलना करते साफतौर पर दिख रहे हैं जिनकी वर्दी न तो डीजीपी द्वारा निर्देशित ड्रेस कोड के मुताबिक है और न ही उक्त कर्मी का नाम ही वर्दी पर अंकित है। हालांकि एक सिपाही की वर्दी के साथ नाम तो है लेकिन सही तरीके से इसे लगाया नहीं गया है। जिस कारण वेल ड्रेस यूनिफॉर्म कोड का पालन होता नहीं दिख रहा है। बेशक सूबे के सभी जिलों में बेहतर पुलिसिंग के लिए डीजीपी का यह फरमान आज के संदर्भ में सार्थक तो है लेकिन इसका अनुपालन किस हद तक हो रहा है इसे भी मद्देनजर रखना होगा। तब ही सूबे में स्मार्ट पुलिसिंग हम देख पाएंगे...। बता दें कि ऐसी वर्दी से वर्दी के प्रति असम्मान का भाव प्रदर्शित होता है। साथ ही आम जनता की नजरों में बिहार पुलिस की छवि भी खराब होती है। इसे लेकर डीजीपी ने सभी पुलिस अधिकारियों और कर्मियों को दिशा निर्देश भी जारी किया था कि वे ड्यूटी के दौरान मापदंडों के अनुसार वर्दी पहनना सुनिश्चित करेंगे। 

डीजीपी ने कराया था सर्वे : 

बता दें कि डीजीपी ने अपने स्तर से कराए एक सर्वे में पाया कि कई पुलिस अधिकारी और पुलिसकर्मी ड्रेस कोड मैन्युअल का पालन नहीं कर रहे हैं। कई मौकों पर अधिकारी और कर्मी बिना पुलिस ड्रेस के पाए गए। इतना ही नहीं पुलिसकर्मियों के वर्दी पहनने के तरीके में भी कमी पाई गई हैं। कुछ पुलिसकर्मी अपनी वर्दी के मेंटेंनेंस को लेकर भी लापरवाह दिखे। जबकि सरकार पुलिसकर्मियों को वर्दी मेंटेंनेंस के लिए भत्ता देती है। पुलिस मुख्यालय ने माना है कि सही तरीके से वर्दी नहीं पहनने की वजह से पुलिस की छवि आमलोगों के बीच धूमिल हो रही है।


 


Advertisements

Posted by : Raushan Pratyek Media

Follow On :


जरूर पढ़ें

Grievance Redressal Officer (Any Complain Solution) Name: Raushan Kumar   Mobile : 8092803230   7488695961   Email : pratyak75@gmail.com