इस कार्रवाई से ग्रामीणों मे व्याप्त हुआ आक्रोश

बीडीओ का कहना उक्त भूमि न ऑनलाईन व न ऑफलाइन में दर्ज है,जबकी ग्रामीणों का कहना है भूमि ऑनलाईन व ऑफलाईन में भी दर्ज है

बन्टी कुमार की रिपोर्ट

चतरा:-एक तरफ सरकार भूमिहीनों को वन पट्टा अधिकार एवं आवास निर्माण को लेकर जमीन मुहैया करवाने की बात करती तो वही दूसरी ओर सरकार के पदाधिकारी गरीब एवं असहाय व्यक्ति के ऊपर कुंदा प्रखंड क्षेत्र के आवास धराशायी कर जुल्म कर रहे हैं। 

ऐसा मुक्तभोगी का कहना है भुक्तभोगी सकुन्ती देवी पति अमीरक गंझू ने बताया की कुंदा अंचल कार्यालय के द्वारा न कोई सूचना दी गई और न ही कोई नोटिस दिया गया इसके बावजूद अचानक से बुलडोजर लगाकर घर को ध्वस्त कर दिया गया। वही भुक्तभोगी ने अपना दर्द बयां करते हुए बताया कि मेहनत व मजदूरी कर किसी तरह से पक्के मकान का निर्माण किया था। वही महिला ने बतायी की मकान निर्माण में काफी कर्ज में डूब चुका हूं। जिसका फिलहाल भरपाई भी नहीं कर सकता हूं और दूसरी ओर बेघर हो चुका हु।अब जायें तो जायें कहा। वही भुक्तभोगी ने जमीन के संदर्भ में बताया कि उक्त जमीन पर पिछले 35 से 40 वर्षों से कब्जा है पूर्वजों से ही उक्त जमीन पर खेती बारी की जा रही है। खाता नo 01 प्लॉट नo 5 में लगभग 20 एकड़ भूमि अतिक्रमण मुक्त किया गया जबकी ग्रामीणों का कहना है की भूदान पर्चा मिला हुवा है। घर टूटने से नाराज व आक्रोशित महिलाओं ने प्रखंड कार्यालय परिसर में जमकर काटा हंगामा।

वही समाजसेवी अम्बिका सिंह भोक्ता ने बताया की सीओ प्रखंड क्षेत्र में ग्रामीणों के बीच नियम को ताक पर रखकर अपनी नियम और कानून चलाते है इन्होंने तोता पाल रखे हैं सीओ आवास के सामने सरकारी जमीन पर खाता नo 985 में अवैध रूप से अपने देख-रेख में मकान निर्माण करवाया है।

वही श्री भोक्ता ने यह भी आरोप लगाया की लोगो पर बेवजह केस किया जाता है।

क्या कहते हैं बीडीओ सह सीओ

 वही इस संदर्भ में बीडीओ सह सीओ श्रवण राम से पूछे जाने पर उन्होंने बताया की पिछले अप्रैल मे आम इश्तेहार जारी किया गया था। एनओसी होने के बाद बरसात में अवैध रूप से दखल कब्जा की गई।


 


Advertisements

Posted by : Raushan Pratyek Media

Follow On :


जरूर पढ़ें

Grievance Redressal Officer (Any Complain Solution) Name: Raushan Kumar   Mobile : 8092803230   7488695961   Email : [email protected]