पवन कुमार/सवान कुमार की रिपोर्ट

पूर्णियाँ :- बिहार राज्य सिंचाई विभाग कर्मचारी यूनियन परिक्षेत्र शाखा सहरसा के अध्यक्ष श्री अशोक कुमार मिश्र की अध्यक्षता में नहर मौसमी मजदूरों एवं नियमित कर्मचारियों से संबंधित 25 सूत्री मांगों पर सिंचाई अंचल पुर्णिया के अधीक्षण अभियंता  अररिया,कटिहार, और मुरलीगंज के कार्यपालक अभियंता तथा युनियन के प्रतिनिधि   महासंघ (गोपगुट) के राज्य सलाहकार काॅ माधव प्रसाद सिंह,अध्यक्ष अरविंद कुमार सिंह,सिंचाई विभाग कर्मचारी यूनियन के परिक्षेत्र सचिव अरविंद कुमार पांडेय, बिहार पेंशनर समाज के वरिष्ठ नेता रमेश प्रसाद सिंह एवं जिला सचिव दिलीप कुमार चौधरी की उपस्थिति में सौहार्दपूर्ण वातावरण में वार्ता एवं लिखित समझौता सम्पन्न हुआ ।वार्ता के समय कार्यालय के बाहर सैकड़ों की संख्या में नहर मौसमी मजदूर एवं कर्मचारी जमे हुए थे।  इस वार्ता में पूर्व के समझौते को शतप्रतिशत लागू करने,मौसमी मजदूरों के सभी बकाया मजदूरी का भुगतान करने,मौसमी मजदूरों को सिंचाई विभाग में सालों भर काम पर रखने,मौसमी मजदूरों के स्थान पर आकस्मिक मजदूर नहीं लिखने का सम्बन्धित सभी अधिकारियों को निर्देश देने, कनीय अभियंताओं एवं सिंचाई अवर प्रमण्डल द्वारा अकारण हटाये गये मौसमी मजदूरों को पुनः काम पर रखने, मौसमी मजदूरों को काम पर रखने के पूर्व उसकी सूची प्रमण्डल एवं अंचल कार्यालय को समर्पित करने, सभी मौसमी मजदूरों को परिचय प्रत्र एवं अनुभव प्रमाण पत्र समझौता के आलोक में निर्गत करने, वर्ष 2017 के पूर्व के संख्या अनुसार मौसमी कर्मचारियों को काम देने,समय पर आवंटन उपलब्ध कराने, मजदूरों को वरीयता के आधार पर रखने आदि एवं योग्यताधारी नियमित चतुर्थ वर्गीय कर्मचारियों को तृतीय श्रेणी में प्रोन्नति के लिए भेजे गए प्रस्ताव पर मुख्य अभियंता को स्मारित पत्र भेजने, लंबित ए सी पी /एम ए सी पी का अंचल से भेजे गए प्रारुप के निष्पादन के लिए मुख्य अभियंता को स्मारित करने, सेवा निवृत्त कर्मचारियों के सभी दावे का एक महीने के अंदर निराकरण करने, चतुर्थ श्रेणी के 01.01.1996 से संशोधित वेतन निर्धारण कर एक महीने के अंदर निष्पादन करने आदि मांगों पर लिखित समझौता सम्पन्न हुआ। युनियन के द्वारा अधीक्षण अभियंता से की गई समझौते का समय पर निष्पादन नहीं होने पर फरवरी 2021 के अंतिम सप्ताह से अनिश्चितकालीन आन्दोलन चलाने के लिए युनियन वाध्य होगी। अधीक्षण अभियंता ने युनियन प्रतिनिधि को आश्वस्त किया कि सभी समझौते को अक्षरश निष्पादन किया जायेगा। तत्पश्चात वार्ता की कार्रवाही समाप्त की गई।


Advertisements

Posted by : Raushan Pratyek Media

Follow On :


जरूर पढ़ें