Live

अजय शंकर के साथ दीपक कुमार की रिपोर्ट।।

पटना : राम कृष्णा नगर थाना से महज 500 मीटर की दूरी पर बड़कू यादव के बेटे 21 वर्षीय अरुण यादव की हत्या अपराधियों ने दो दिन पहले कर दी थी। इस मामले को लेकर जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने शोकाकुल परिजनों से मुलाकात की एवं इस संबंध में डीजीपी से न्यायिक जांच के लिए फोन पर बात की। पप्पू यादव ने डीजीपी से कहा हत्या एवं रंगदारी को लेकर मोहल्ले का कुख्यात अपराधी बबलू यादव एवं राकेश यादव लगभग 10 साल से जेल में बंद था, जेल से निकलने के बाद फिर से वह  गांजा एवं शराब का गैर कानूनी धंधा चालू कर दिया, वह जमीन हथियाने के साथ रंगदारी वसूलने का काम भी शुरू कर दिया है। जब इस काम में बड़कू यादव के बेटे अरुण यादव ने हस्तक्षेप किया तो उसे घर से बुला कर सीने में गोली मार दी। मरने के पहले पुलिस के सामने दिए गए बयान में उसने दोनों अपराधी बबलू यादव एवं राकेश यादव का नाम लिया है। स्थानीय लोगों में आक्रोश है कि इतनी कम दूरी होने के बाद थाना की पुलिस 3 से 4 घंटे देर से आई। जिस वजह से अरुण यादव की जान नहीं बचाई जा सकी,वही 48 घंटे बीतने के बाद भी पुलिस अपराधी को दबोचने में नाकामयाब रही। पप्पू यादव ने आरोप लगाया दोनों अपराधी को थाना का संरक्षण प्राप्त है, और वह थाना प्रभारी से मिलकर सारे घटना को अंजाम देता है। थाना प्रभारी पर कार्रवाई करते हुए इस मामले में दोषी को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए, क्योंकि अपराधी ने धमकी दी है तुम्हारे एक बेटे को मार दिया, बाकी बचे बेटे को भी मार देंगे, नहीं तो थाना में दायर किए गए केस को वापस ले लो। इस मामले को लेकर बड़कू यादव के परिजन एवं मोहल्ले वासी काफी सहमे हुए हैं। इसलिए जल्द से जल्द पीड़ित को न्याय मिले।। देखना दिलचस्प होगा कि मामले पर डीजीपी क्या एक्शन लेते हैं।।

  


  




जरूर पढ़ें