Live

अमर कुमार गुप्ता की रिपोर्ट

कटिहार/फलका-प्रखंड के पोठिया बाजार में लॉकडाउन जो एक अगस्त को खत्म होना था। वह बढ़कर 16 अगस्त कर दिया गया कोरोना की महामारी को देखते हुए भारत सरकार बिहार सरकार मिलकर ठोस कदम उठाए हैं ।की करुणा महामारी को भगाना है और नया देश बनाना है ।इस उद्देश को देखते हुए हमारे पोठिया बाजार में पोठिया ओपी थाना अध्यक्ष संजय रविदास 24 घंटा पेट्रोलिंग करते रहते हैं ।और आते जाते जनता को प्रेरित करते हैं । मास्क लगाएं सोशल डिस्टेंस बना कर रहे ।बिना काम का घर से बाहर ना निकले और पोठिया ओपी  प्रभारी संजय दास बाजार में सभी दुकाने बंद  है  और ऑटो वालों को पकड़ कर हिदायत दी जाती है कि लॉक डाउन में  ओटो ना चलाएं  घर में रहें सुरक्षित रहें लॉक डॉन पोठिया बाजार में इतनी टाइट कर दी गई है ।कि एक परिंदे को भी बाहर  निकलना मुश्किल हो गया है। सभी दुकाने बंद दिख रहे हैं ।चारों तरफ के रास्ते सन्नाटा का छाया हुआ है ।बताते चलें कि ऑटो पर सफर करने वाले को अब ₹50 के बदले ₹100 किराया देना पड़ता है ऐसा लगता है किया लॉकडाउन गरीबों को आने जाने में एक तो कठिनाई के सामना करनी ही पड़ती है दूसरी तरफ रुपयों की महंगाई को देखते ही कमर कस रहे हैं। ओटो स्टैंड की किरानी  को सिर्फ  कमीशन चाहिए गरीब जनता  से  आम आदमी से ओटो किराया मनमानी लिया जा रहा है। इसका  सुध लेने वाला कोई नहीं है पचास रुपये  के बदले सौ रुपये दस बदले बिस रुपये लेते ओटो वाले  एक तरफ लॉकडाउन की मार दूसरी तरफ महंगाई की मार लॉकडाउन में सभी चीजों में   महंगाई दिख रही है ।यह कभी नहीं सोच रहे हैं ।बिहार सरकार हो या  जिला पदाधिकारी हो या  प्रखंड विकास पदाधिकारी या हो थाना अध्यक्ष कभी भी इस मंहगाई का सुध लेने वाला कोई नहीं है। आज गरीब आम जनता जाए तो कहां जाए।

  


  




जरूर पढ़ें