Live

 अंकित त्रिपाठी की रिपोर्ट

दनियावां(पटना):-  दनियावां प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी संजय सिन्हा के तबादले का कार्यक्रम जैसे-जैसे पूर्ण होता गया उसी तरह इस रहस्यात्मक संदेश का संचार जनता में होती गई। दनियावां प्रखंडवासी हर हाल में स्थानांतरण की यथास्थिति को जानना चाहते हैं, अब जनता के बीच तबादले की परिस्थिति को पर्दाफाश होना अति आवश्यक हो गया है।क्योंकि पिछले 15 दिन पहले किसी ने लिखित शिकायत पत्र ग्रामीण विकास मंत्री व मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार को ईमेल भेजो पर निराशा हाथ लगी लेकिन वहां के नागरिको में इस कदर अपने अधिकारों के प्रति सजग हो गए कि किसी ने अपना शिकायत राष्ट्रीय मानवाधिकार को भेजा जिसके लिए उन्हें शिकायत प्राप्ति के रूप में डायरी संख्या दी गई इस होड़ में पुनः प्रखंड वासियों ने लिखित शिकायत पत्र लोकायुक्त बिहार को भेज दी और शिकायत पत्र प्राप्त कर लिया गया है। लोकतंत्र में जब नागरिक अपने अधिकारों के प्रति सजग नहीं रहेंगे तो बॉर्नविटा या चवनप्राश खाकर ताकतवर नहीं बन सकते, इस लोकतांत्रिक देश में तंत्र के सामने जो बाहुबली है और जो सबसे निर्बल है दोनों समान रूप से कमजोर हो सकते हैं। इस तरह प्रखंड वासियों का तंत्र से अनुरोध उसी तंत्र के खिलाफ विरोध में बदल रहा है और न्याय की उम्मीद भी बढ़ रही है तथा उनमें उर्जा का संचार 10 गुना अधिक हो गया है।

  


  




जरूर पढ़ें