Live

छपरा :- पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ के वाराणसी मण्डल के अध्यक्ष ए एच अंसारी ने बताया कि भारत के सभी मजदूर संगठन भारत सरकार के मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ 9 अगस्त 2020 को "सेव इंडिया डे" मनाने का संकल्प लिया है।

अध्यक्ष ए एच अंसारी ने बताया कि एनएफआईआर तथा आई एन टी यू सी सहित सीपीयू तथा तमाम मजदूर संगठनों द्वारा भारत सरकार के मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ़ पूरे भारतवर्ष में एनएफआईआर से संबंध संगठन मास्क पहनकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अपना विरोध प्रदर्शन करेंगे और धरना देंगे।

अध्यक्ष अंसारी ने कहा कि लगातार केंद्र सरकार ने मजदूर विरोधी नीतियाँ बनाई हैं जिससे पूर्वोत्तर रेलवे के साथ पूरे भारतीय रेलवे पर कर्मचारियों को कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा है। देश कोविड-19 जैसे महामारी से लड़ने के साथ-साथ देश में मज़दूर विरोधी नीतियों से भी संघर्ष कर रहा है । ऐसे में मज़दूर को एकत्र होकर सरकार की नीतियों के खिलाफ़ सड़क पर उतारना ही एकमात्र विकल्प रह गया है । मज़दूरों के ज्वलंत मुद्दें हैं-

1) नीजिकरण एवं निगमीकरण के अंतर्गत भारतीय रेल पर 109 प्राइवेट ट्रेन चलाने की अनुमति दे दी है । रेल को  प्राइवेट हाथों में  सौंपने के साथ-साथ रक्षा विभाग,कोयला विभाग , एयर इंडिया ,बैंक , एलआईसी,परमाणु ऊर्जा , बंदरगाह , हवाई अड्डे , पब्लिक सेक्टर के बैंकों को भी नीजि हाथों में सौंपने के विरोध में ।

2) श्रम कानून के बदलाव के विरोध में ।

3) मँहगाई भत्ता एवं मँहगाई राहत फ्रीज करने का आदेश अविलंब वापस हो।

4) रेल कर्मचारियों को केंद्रीय कर्मचारी बने रहने देने के लिए।

5) एनपीएस बंद कर पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू करने।

6) श्रम विरोधी कानून बनाने के विरुद्ध में ।

(7) कोविड-19 काल में रेल कर्मचारियों को 5000000 की बीमा करने के लिए,इन सभी माँगों को लेकर 9 अगस्त 2020 को पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ धरना - प्रदर्शन तथा विरोध पर उतरेगी तथा छपरा जंक्शन रेलवे स्टेशन पर "सेव इंडिया डे" संकल्प के रुप में मनाएगी। यह वाराणसी मण्डल और पूर्वोत्तर रेलवे स्तर पर धरना-प्रदर्शन होगा ।।

  


  




जरूर पढ़ें