Live

आनंद कुमार झा की रिपोर्ट

सीतामढ़ी-बुद्धिजीवी मंच सीतामढ़ी, केंद्र सरकार के कैबिनेट द्वारा घोषित नई शिक्षा नीति पर प्रशंसा व्यक्ति करता है। इस नई शिक्षा नीति द्वारा छात्र न केवल ज्ञान आधारित शिक्षा प्राप्त करेगा वरन उसके कौशल को निखरने का अवसर भी मिलेगा। पहली से पांचवीं तक की शिक्षा मातृभाषा में मिलने से बच्चों को उनके व्यावहारिक भाषा में शिक्षण उनकी शिक्षात्मक अभिरुचियों को जगाएगा। हमारे मिथिला क्षेत्र में मैथिली भाषा का स्थानीय रूप से प्रसार बढ़ेगा साथ ही जनमानस अपनी भाषा का विभिन्न व्यावसायिक प्रयोग को बढ़ावा देगा। कई पत्र पत्रिकाएं मैथिली भाषा में छपेगी, स्थानीय भाषाओं के न्यूज़ चैनल इत्यादि क्रिया कलाप लोकल के वोकल होने की दिशा में उदघोष साबित होगा। उक्त विचार भाजपा बुद्धिजीवी मंच के जिला संयोजक  डॉ देवेश ठाकुर ने अपनी टीम की ऑनलाइन बैठक आयोजित कर कहीं। प्रत्येक छात्र को उसके अनुरूप शिक्षा ही शिक्षा के उचित संस्कार को प्रवाहित कर सकती है। मैथिली उत्थान एवं उसके माध्यम से जन जन में खुशी है। वहीं राज्य तरक्की करता है जो अपनी भाषा और संस्कृति में अधिक से अधिक कार्य करता है। बैठक में बुद्धिजीवी मंच के प्रदेश सह संयोजक श्री मुन्ना सिंह यादव, जिला सह संयोजक श्री अनिल यादव, अमरनाथ, आशीष झा, राजन झा, संजीव सिंह सहित अन्य लोग सम्मिलित थे।

  


  




जरूर पढ़ें