Live

  विकास सिंह की रिपोर्ट

आरा-अनादि काल से ही  भोजपुर जिले बिंदगावां ग्राम में अवस्थित सरजू गंगा शोण संगम स्थल है जो कि भारत सहित विश्व के किसी भी धर्म क्षेत्र का एकमात्र अति दुर्लभ सम्मान है जिसका वर्णन कई धर्म ग्रंथों में भी उल्लेखित है उदाहरण स्वरूप राम चरित्र मानस के बालकांड के 34 वा दोहा से लेकर उन 40 में दोहा के बीच महर्षि तुलसीदासजी ने लिखा है 

राम भगति सूरतहि जाही मिलहि

सुकृति सरयू सुहाई ।

 सानुज राम समर जसु पावन। मिले हूं महानद शोंन सुहावन ।।त्रिविध ताप त्रासक तिमुहानी ।राम स्वरूप सिंधु समुहानी।। रामधाम दा पुरी सुहावन। ।लोक समस्त विदित अति पावनि।

 चार खानी जगजीव अपारा अवध तजे तनु नहीं संसारा ।

जन्म भूमि मम पूरी सुहावन ।उत्तर दिशा वह पावन।

 उपरोक्त स्थल जिस पर भगवान श्री राम के स्वयं पगपड़े हैं वैसी दुर्लभ संगम की मिट्टी एवं जल भगवान श्री राम की कृपा से उनकी परमधाम के लिए ही भगवान को अर्पित संगमेश्वरम पशुपतिनाथ चरण पीठ ग्राम बिंदगावां पोस्ट बंधु छपरा जिला भोजपुर द्वारा अर्पित किया जा रहा है इस स्थल का महत्व मंदिर निर्माण में इसलिए बढ़ जाता है कि भगवान श्रीराम चारों भाई सहित महाप्रयाण के समय में इसी पावन नदी में खुद को जल समाहित कर साकेत धाम को गए थे और यह नदी की धारा सरयू गंगा सुनती मोहनी के रूप में आज भी विद्यमान है ऐसे में इस स्थल की मिट्टी एवं जल मंदिर निर्माण हेतु अर्पित करना सौभाग्य प्राप्ति है इसी त्रिमूहानी के तट पर भगवान का मंदिर भी स्थित है जहां भगवान श्री राम के हृदय में शंकर भगवान और शंकर भगवान के हृदय में श्रीहरि भगवान श्री राम बसते हैं इसी मंदिर में भगवान सोमेश्वर नाथ पशुपति शंकर भगवान का चरण पीठ भी विद्यमान है जो नर्मदा मां की असीम कृपा से चरण पादुका प्राप्त हुआ है जिसके एक ही चरण पादुका में आया एवं दाया पांव का अंत समाहित है जिसमें प्रकृति द्वारा स्वयं बोलबम अंकित है इसलिए इस मंदिर का पुनीत नाम संगमेश्वरम पशुपतिनाथ चरण पीठ से विख्यात है इस मंदिर में लगा त्रिशूल हर वक्त कंपाइन है। भक्त जनों में मंदिर के संरक्षक योगानंद जी महाराज रणधीर सिंह हरेंद्र सिंह त्रिभुवन सिंह अजय सिंह अशोक सिंह विश्वविजय सिंह,विश्वजीत सिंह  बलिराम सिंह देवब्रत सिंह,विकास सिंह,रजनीकांत सिंह बरमेश्वर पाठक , हरिहर सिंह घनश्याम सिंह निर्मल सिंह प्रदीप सिंह गजेंद्र सिंह जयराम सिंह गोलू सिंह,गोविंदा सिंह,रोहित सिंह,राम सिंह,लाल बिहारी सिंह दीपक सिंह अजय सिंह अलिमर्दन सिंह चिंटू सिंह नरेश पांडेय चन्द्रमणि दुबे आदि थे।

  


  




जरूर पढ़ें