विश्वमोहन कु०विधान की रिपोर्ट

मुंगेर-प्रवासी एवं असंगठित क्षेत्रों में मजदूर परिवार के समक्ष रोजगार छिन जाने के कारण उत्पन्न भुखमरी की समस्या तथा रोजगार देने रोजगार न मिलने के अवधि में प्रतिमाह ₹8000 भत्ता दिए जाने को लेकर सोमवार को सैकड़ों प्रवासी मजदूर ने एसयूसीआई कम्युनिस्ट के तत्वधान में आक्रोश मार्च निकाला। यह आक्रोश मार्च संग्रामपुर बस स्टैंड से चलकर बाजार के सभी प्रमुख मार्गों से गुजरते हुए प्रखंड मुख्यालय पहुंचा। वहीं इस मार्च का नेतृत्व एसयूसीआई लोकल कमेटी सचिव कम्युनिस्ट रंजीत राम सुधीर यादव उत्तम दास कर रहे थे। इस मार्च में उपस्थित सैकड़ों कार्यकर्ता अपने हाथों में मांगो के लिखे प्लेकार्ड लिए मजदूरों को रोजगार दो, रोजगार ना मिलने तक जीने लायक 8000 रुपये पेंशन भत्ता दो। केंद्र एवं राज्य सरकार की गरीबी विरोधी नीति मुर्दाबाद कोरोना जैसे महामारी से पीड़ित जनता के समक्ष चुनाव कराना बंद करो आदि के नारे लगाते हुए। अपनी 5 सूत्री मांगों का एक ज्ञापन प्रखंड विकास पदाधिकारी को सौंपा। मौके पर मौजूद एसयूसीआई के जिला सचिव कम्युनिस्ट कृष्णदेव साह केंद्र एवं राज्य सरकार की गरीब विरोधी नीति की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि लोकडाउन के पूर्व से बिना तैयारी के चलते आज गरीब मजदूरों का रोजी-रोटी छिन गया है। आज उनके परिवार के सदस्य भुखमरी के दहलीज पर खड़ा है। केंद्र एवं राज्य सरकार की घोषणा के बाद भी मजदूरों को रोजगार नहीं मिल रहा है। मजदूर सैकड़ों की संख्या में लगातार पलायन कर रहे हैं। श्री शाह ने कहा कि जॉब कार्ड रहते किसी मजदूरों को आज तक काम नहीं मिला। मनरेगा में मजदूरों के जगह मशीन से कार्य हो रहा है। खेत में काम करने वाले मजदूरों की दशा चिंता जनक है। कोरोना जैसी महामारी एवं गरीब जनता की जमीन बर्बाद हो रहा है। वहीं सरकार वर्चुअल रैली कर चुनाव की तैयारी में जुट गई है। उन्होंने कहा कि केंद्र एवं राज्य की एनडीए सरकार महामारी के समय जनता के ध्यान को अपनी विफलता छिपाने के लिए समर्थकों से देशभर भर में चीनी सामान का बॉकआउट करने का नारा लगा रहे हैं। और मोदी जी की सरकार एक के बाद एक ठेका चीनी कंपनियों को दे रही है। चीन के साथ लगातार व्यापारिक समझौते हो रहे हैं। और बीच में सरहदों पर मर रहे हैं हमारे देश के किसान मजदूर के बेटे। वही इस  मौके पर सुशीला देवी संतोष दास विनोद मंडल गंगा मंडल सच्चिदानंद मंडल सहित सैकड़ों की संख्या में प्रवासी मजदूरों के साथ एसयूसीआई के कार्यकर्त्ता उपस्थित थे।


 


Advertisements

Posted by : Raushan Pratyek Media

Follow On :


जरूर पढ़ें

Grievance Redressal Officer (Any Complain Solution) Name: Raushan Kumar   Mobile : 8092803230   7488695961   Email : [email protected]