Live

पटना : भारत में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. वहीं, कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए बिहार सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए पूरे राज्य को 31 मार्च तक के लिए लॉकडाउन करने का फैसला किया है. नीतीश कुमार की अध्यक्षता में आज महत्वपूर्ण बैठक बुलाई गई जिसमें यह फैसला लिया गया है. 

वहीं, आज शाम इस बैठक का आयोजन किया गया और इसमें कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए. 

• सभी मुख्यालय-प्रखंड लॉकडाउन

बिहार सरकार ने फैसला लिया है कि राज्य के सभी जिला मुख्यालय, अनुमंडल मुख्यालयों, सभी प्रखंड मुख्यालयों और सभी नगर निकाय को पूरी तरह बंद करने का निर्णय लिया गया है.  साथ ही निजी प्रतिष्ठानों, निजी कार्यालयों और सार्वजनिक परिवहन को भी बंद करने का फैसला लिया गया है.

• क्या रहेगा खुला?

बिहार में लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं से संबंधित प्रतिष्ठानों, चिकित्सा सेवाओं, खाद्यान्न और किराने के दुकान, डेयरी एवं डेयरी से संबंधित प्रतिष्ठान, पेट्रोल पंप, सीएनजी स्टेशन, बैकिंग, एटीएम, पोस्ट ऑफिस तथा प्रिंट-इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को लॉकडाउन से बाहर रखा गया है. 

• सीएम की अपील

सीएम नीतीश कुमार ने बिहारवासियों से अपील की है कि कोरोना संक्रमण के खिलाफ राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही मुहिम में लोग अपना पूरा सहयोग दें. साथ ही उन्होंने कहा  है कि संकट की इस घड़ी में सरकार सभी लोगों के साथ है. मुझे पूरा विश्वास है कि हम इस चुनौती का सफलतापूर्वक सामना करेंगे. 

• घर के अंदर रहें

साथ ही नीतीश कुमार ने लोगों से ये भी अपील की है कि सभी लोग घर के अंदर रहें. इधर-उधर अनावश्यक न आएं-जाएं. जितना हो सके परिवार के साथ सोशल डिस्टेंसिंग मेनटेन करें ।।


Posted by


जरूर पढ़ें