Live

शेखपुरा। बिहार सरकार शिक्षा विभाग, बिहार पटना के आदेशानुसार मंगलवार को  जल जीवन हरियाली अभियान के अंतर्गत  जल जीवन हरियाली दिवस का आयोजन  महाविद्यालय परिसर में किया गया। इस  कार्यक्रम में  प्रशिक्षुओं के द्वारा कई तरह की गतिविधियो का भी आयोजन हुआ । इस संगोष्ठी में प्राचार्य एवं प्राध्यापको के द्वारा जलवायु परिवर्तन से उत्पन्न परिस्थितियों, चुनौतियों से निपटने, जल को प्रदूषण मुक्त रखने, एवं इसके स्तर को बनाए रखने, हरित आच्छादन को बढ़ावा देने, नवीकरणीय ऊर्जा के उपयोग, ऊर्जा की बचत पर बल देने तथा जलवायु परिवर्तन का कृषि एवं उससे संबंध गतिविधियों को नया आयाम देने के आदि विषयों पर परीचर्चा की गई। महाविद्यालय के अध्यक्ष अंजेश कुमार ने कहा कि जल जीवन हरियाली के तहत कुएँ पुनर्जीवित करना, पोखरों, तालाबों को साफ़ करना, अतिक्रमण मुक्त करना, सौर ऊर्जा का उपयोग बढ़ाना तथा जल और विद्युत् को बचाने के उपायों पर चर्चा, परिचर्चा करवाने की अपील छात्रों से की गयी है।महाविद्यालय के उपाध्यक्ष रमेश कुमार ने कहा कि वातावरण को स्वच्छ रखने तथा प्रदूषण को कम करने के लिए एक अभियान के तौर पर सभी प्रशिक्षुओं को वृक्षारोपण करना  चाहिए इसके तहत सभी को प्रत्येक महीने के प्रथम मंगलवार को एक-एक पौधा अपने हाथों से लगाए ताकि हमारा वातावरण स्वच्छ रह सकें। इस कार्यक्रम में महाविद्यालय के  प्राचार्य  डॉ० प्रवेश कुमार प्राध्यापक सर्वेश कुमार, रविंद्र कुमार, विश्वजीत कुमार, प्रीति  कुमारी, निभा कुमारी,  पुस्तकालय अध्यक्ष प्रियंका कुमारी प्रशाखा पदाधिकारी  राजाराम भी उपस्थित थे।।


Posted by


जरूर पढ़ें