Live

शेखपुरा। आकांक्षी जिला परियोजना अंतर्गत शेखपुरा जिले में आज लोगों के आम स्वास्थ्य एवं पोषण की बेहतरी के लिए सरकार की ओर से स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधित कई योजनाएं चलाई जा रही लेकिन इन योजनाओं की जानकारी केवल और केवल कर्मचारियों तक ही सीमित है सरकारी कर्मियों के भरोसे यह संभव नहीं है कि सभी योजनाओं का लाभ जन-जन तक पहुंच सके मद्देनजर रखते हुए पंचायत प्रतिनिधियों को स्वास्थ्य एवं पोषण जानकारी देने के लिए नीति आयोग द्वारा कार्यरत संस्था पिरामल फाउंडेशन के द्वारा आज मंथन सभागार में  जिला स्तरीय प्रशिक्षकों का प्रशिक्षण मंथन सभागार में आयोजित किया गया जिसकी अध्यक्षता डीडीसी सत्येन्द्र कुमार सिंह ने किया । पोषण स्वास्थ्य कार्यक्रम में पंचायत प्रतिनिधियों की सहभागिता को लेकर आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में आह्वान किया कि वे यहां से ट्रेनिंग लेकर पंचायत जनप्रतिनिधियों का सरकार की ओर विभागो द्वारा चलाई जा रही योजनाओं प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना, जननी सुरक्षा योजना , प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान आदि कार्यक्रम चलाया जा रहा है जागरूकता के अभाव में लोग सरकारी योजनाओं के लाभ से वंचित रह जाते हैं । कारणवश इनमें से कई योजनाओं की स्थिति संतोषजनक नहीं है जनप्रतिनिधियों के प्रशिक्षण के लिए प्रत्येक प्रखंड से ब्लॉक कम्युनिटी मोबिलाइजर आईसीडीएस सुपरवाइजर आईसीडीएस के ब्लॉक कोऑर्डिनेटर पीरामल फाउंडेशन के बिटीओ को यह प्रशिक्षण दिया गया ।डीडीसी ने कहा कि ग्रामीण पोषण दिवस पर अधिक से अधिक लोगों की भागीदारी जरूरी है इसके लिए प्रचार-प्रसार की जरूरत है इस अवसर पर पिरामल फाउंडेशन के राज्य प्रतिनिधि देवासिस सिन्हा जिला कार्यक्रम प्रबंधक वरयाम कुमार निर्मल ,जिला प्रतिनिधि विशाल कुमार ,निशांत सागर मुग्धा सिंह व अन्य उपस्थित थे। पंचायत प्रतिनिधियों को स्वास्थ्य एवं पोषण विभाग से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियां प्रखंड स्तरीय कार्यशाला में दी जाएंगी जिससे जिले में चल रहे योजनाओं एवं कार्यक्रम का लाभ जन-जन तक पहुंचाया जा सके और यह लाभ अवश्य ही जन-जन तक पहुंचेगा अगर जनप्रतिनिधि इस कार्यक्रम से जुड़ेंगे ।जिले में यह अपने आप में एक नई पहल है ।जिसका असर आने वाले समय में देखने को मिलेगा ।।


Posted by


जरूर पढ़ें