Live

- पश्चिम बंगाल एवं झारखंड से रेल मार्ग से मुंगेर पहुंच रही है देसी और विदेशी शराब

- भागलपुर जिले के सीमा स्थल घोरघट फॉल्ट, कल्याणपुर, बरियारपुर, ऋषिकुंड हॉल्ट, रतनपुर स्टेशन, पाटम हॉल्ट सहित आदि छोटे स्टेशनों पर पैसेंजर ट्रेन से उतर रही है शराब की खेप

- ग्रामीण इलाकों के साथ-साथ शहरी इलाकों में भी शराब कारोबारियों द्वारा होली को लेकर की जा रही है भंडारण

मुंगेर से रंजीत की विशेष रिपोर्ट

मुंगेर : लेकिन होली के रंग को बदरंग करने के लिए जिले में शराब तस्करों द्वारा भारी मात्रा में देसी और विदेशी शराब की स्टॉक की जा रही है। शहरी और ग्रामीण इलाकों का एक सा नजारा देखने को मिल रहा है। पुलिस चौकसी के बीच शराब का कारोबार जारी है। ऐसे तो राज्य में शराब पीना और बेचना दोनों प्रतिबंधित है। लेकिन इन दिनों शराब कारोबारियों की चहलकदमी होली को लेकर अधिक बढ़ गई है। छोटे से लेकर बड़े शराब के कारोबारी इसमें शामिल है। पुलिस अगर होली को लेकर विशेष शतक नहीं रही तो जिले में होली का रंग शराब की मदहोशी में बदरंग होने की संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता है । ऐसे पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने जिले के सभी थानाध्यक्षों को होली को लेकर विशेष रुप से सतर्क रहने को कहा है। हाल के दिनों में होली के मद्देनजर थानाध्यक्ष भी शराब तस्करी पर लगाम लगाने के लिए चौकस दिख रही हैं। इसी का परिणाम है कि हाल के दिनों में रेल एवं सड़क मार्ग पर छापामारी कर पुलिस ने देसी और विदेशी शराब भी बरामद करने में सफलता पाई है। इन सब के बावजूद भी जिले में पुलिस चौकसी के बीच शराब का कारोबार बदसूरत जारी है।

सड़क, रेल एवं जलमार्ग से बड़े पैमाने पर जिले मे हो रही है देसी और विदेशी शराब की तस्करी

 जिले के सीमावर्ती राज्य पश्चिम बंगाल तथा झारखंड से जिले में सड़क व रेल तथा जलमार्ग से होली को लेकर बड़े पैमाने पर देशी एवं विदेशी शराब की खेप पहुंचनी शुरू हो गई है। ऐसे पुलिस सड़क व रेल तथा जलमार्ग के रास्तों पर समय-समय पर छापामारी अभियान चलाती है। लेकिन शराब तस्कर आए दिन अपना ट्रेंड बदलते रहे हैं। जिस कारण कभी पुलिस को सफलता मिल पाती है और कभी खाली हाथ भी लौटना पड़ता है। जिले के सीमा घोरघट रेलवे हॉल्ट, कल्याणपुर, बरियारपुर, ऋषिकुंड हॉल्ट, रतनपुर , पाटम, जमालपुर, फुल्का, सारोबाग, दशरथपुर ,धरहरा आदि रेलवे स्टेशनों पर रात्रि में पश्चिम बंगाल तथा झारखंड से आने वाली ट्रेनों के माध्यम से होली को लेकर भारी मात्रा में देशी एवं विदेशी शराब की खेप पहुंचने लगी है।

जल मार्ग से भी छोटी नाव के माध्यम से पहुंच रही है शराब की खेप

सड़क मार्ग में पुलिस की सखती बढ़ने के बाद से शराब तस्करों ने अपना ट्रेंड बदल लिया है। अब जिले में जलमार्ग  यानि गंगा के माध्यम से भी देसी और विदेश की शराब पहुंचती है। जलमार्ग से ग्रामीण इलाकों के गंगा घाटों या सुनसान स्थानों पर गंगा किनारे नाव या डेंगी को लगाकर तस्कर शराब उतारते हैं और वहां से रात्रि में ही शराब को अपने गंतव्य स्थान तक पहुंचा देते हैं। जिस कारण पुलिस को भनक भी नहीं लग पाती है। दियारा या  ग्रामीण क्षेत्र होने के कारण भी पुलिस रात्रि में भौगोलिक स्थिति को देखते हुए चाह कर भी अभियान नहीं चला पाती है। नाव के माध्यम से भागलपुर, नौगछिया, खगड़िया बेगूसराय, लखीसराय जिले से भी मुगेर एवं आस पास के इलाको में होली को लेकर भारी मात्रा में देशी और विदेशी शराब की खेप पहुंचनी शुरु हो गयी है। जिसे बड़े तस्कर अपने अपने क्षेत्र के छोटे कारोबारियों को सप्लाई करने की योजना बनाने मे लगे है।

हाल के दिनों में कब कब देसी और विदेशी शराब हुए है बरामत

- 22 जनवरी 2020 को जमालपुर जीआरपी ने हावड़ा - जमालपुर ट्रेन से पश्चिम बंगाल से लाई जा रही विदेशी शराब को जप्त किया था।

- 18 फरवरी को 2020 को जमालपुर स्टेशन पर ही आरपीएफ ने पश्चिम बंगाल तथा झारखंड से लाई जा रही विदेशी शराब से भरा तीन बैग बरामद किया था।

जिसमें 500 एमएल का मेकडेवल 34 पीस तथा ऑफिसर चॉइस व्हिस्की 50 एमएल 09 पीस तथा इसके अलावा 180 एमएल का रम जैक बरामद किया गया था।

-  29 फरवरी 2020 को गुप्त सूचना पर नया रामनगर थानाध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह तथा एएसआई कुशलेश पांडे ने वेश बदलकर नौवागढ़ी स्थित क्रेशर रोड के समीप रायपुर बगीचा के निकट से मोटरसाइकिल से पहुंचाई जा रही देसी शराब की खेप मे शामिल 200 एमएल का 70 बोतल  देसी शराब बरामद किया था। एक तस्कर भी गिरफ्तार हुए थे। और मोटरसाइकिल भी जब की गयी थी।

- 02 मार्च 2020 को गंगटा थाना पुलिस ने 12 बोतल  विदेशी शराब के साथ 04 तस्करों को गिरफ्तार किया। 

 ग्रामीण व शहरी इलाकों में चौकीदार की भूमिका पर भी उठ रहे हैं सवाल

 जिले के ग्रामीण एवं इलाकों में संबंधित थाना के चौकीदार की भूमिका पर भी लोग अब सवाल उठाने लगे हैं। कई लोगों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि स्थानीय चौकीदार की सांठगांठ से ही ग्रामीण इलाकों में देशी एवं विदेशी शराब की कारोबार जारी है। सूत्रों से पता चला है कि चौकीदार को शराब कारोबारियों से गिफ्ट भी मिलता है। पुलिस की कार्रवाई की सूचना शराब कारोबारियो को पहले मिल जाने से पुलिस को सफलता नहीं मिल पाती है।  शहरी एवं ग्रामीण इलाकों के चौकीदार के मोबाइल नंबर की अगर निष्पक्ष जांच हो तो कई के चेहरे बेनकाब होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। 

 बोले डीआईजी

पुलिस टीम के द्वारा विशेष रुप से शराब तस्करों के विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है। हाल के दिनों में होली को लेकर शराब कारोबारियों की सक्रियता की सूचना मिल रही है। जल्द ही शराब तस्करों के नेटवर्क को ध्वस्त किया जाएगा। मनु महाराज, डीआईजी, मुंगेर प्रक्षेत्र मुंगेर ।।


Posted by


जरूर पढ़ें