Live

पलटन साहनी संवाददाता समस्तीपुर की रिपोर्ट

समस्तीपुर बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति समस्तीपुर इकाई द्वारा आज 23.02.2020 को पटेल मैदान से शव यात्रा निकालते हुए चिनिमिल चौक पर मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री का किया गया पुतला दहन।

उससे पूर्व समन्वय समिति के सदस्यों द्वारा पटेल मैदान में एकत्रित शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा गया कि लगातार छोटे छोटे आंदोलन के जरिये व मांगपत्र के जरिये सरकार को अपनी मांगों नियमित शिक्षकों की तरह पूर्ण वेतनमान व राज्यकर्मी का दर्जा सहित अन्य मांगों से अवगत कराया गया।परंतु सरकार ने अनसुना कर दिया।मजबूरन 17 फरवरी से सूबे बिहार के प्राथमिक से लेकर उच्चतर माध्यमिक तक के शिक्षक अनिश्चित कालीन हड़ताल पर है।75000 विद्यालयों में पूर्णतः ताला लटक रहा है।पटना में Deo कार्यालय पर लोकतांत्रिक मर्यादा के तहत धरना प्रदर्शन पर बैठे शिक्षकों पर वाटर कैनल, लाठी/डंडे का प्रयोग कर उन्हें गिरफ्तार करना सरकार की दमनकारी नीति,हिटलरशाही,व मानवीय मर्यादा के प्रतिकूल है।सरकार द्वारा बर्बरतापूर्ण कार्यवाही स्वाधीनता के समय  अंग्रेजी हुकूमत की याद दिलाती है।इस निरंकुश/ हठधर्मी सरकार द्वारा लगातार लोकतंत्र की हत्या की जाती रही है।शिक्षक भी इसबार आर या पार की लड़ाई के मूड में हैं।सेवा बर्खास्तगी ,FIR, निलंबन की धमकी से डरने वाले नहीं है।शिक्षकों द्वारा स्पष्ट कहा जा रहा है कि अब याचना नहीं रण होगा,जीवन जय या मरण होगा।

मौके पर रामचंद्र राय, रामनाथ कुमार,अशोक कुमार साहू,चंद्रशेखर राय, श्याम कुमार पाण्डे,गणेश कुमार,कुमार गौरव,मो0 अब्बास, जयप्रकाश भगत,संजीत भारती,प्रतिमा ठाकुर,रामकिशोर राय, अभय आजाद,वीरदेलाल यादव,रामबालक राय, सुधीर कुमार पांडेय, बृजराज सिंह सहित सैकड़ो शिक्षक उपस्थित रहे।।


Posted by

Pawan Kumar


जरूर पढ़ें