Live

जमशेदपुर से डॉ.कल्याणी कबीर की रिपोर्ट

जमशेदपुर : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के द्वारा आयोजित नमन करो इस  माटी  को  रथ यात्रा आज सालबानी स्थित यामिनी कांत बीo एडo कॉलेज पहुँची जहाँ  जालियावाला बाग की माटी का भव्य स्वागत  कॉलेज के प्राचार्य सहित शिक्षक शिक्षिका एवं सैकड़ों छात्र-छात्राओं द्वारा किया गया एवं श्रद्धांजलि अर्पण कर वीर शहीदों को याद किया । साथ ही इस अवसर पर  नमन करो इस माटी को विषय पर एक संगोष्ठी का आयोजन कॉलेज स्थित सभागार में किया गया।

संगोष्ठी का आयोजन अतिथियों द्वारा सामूहिक रूप से दीप प्रज्वलित कर एवं माँ भारती, विद्या की जननी माँ सरस्वती तथा युवा हृदय सम्राट स्वामी विवेकानंद जी  की तस्वीर पर माल्यार्पण कर किया गया।

 ज्ञात हो कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने जालियाँवाला बाग हत्याकांड के 100 वर्ष पूर्ण होने पर संपूर्ण देश भर में जालियाँवाला बाग हत्याकांड में शहीद  स्वतंत्रता सेनानियों के खून से लथपथ पुण्य माटी को संपूर्ण भारतवर्ष के करोड़ों युवाओं के बीच में  लेकर जाने का लक्ष्य रखा है ,ताकि देश का युवा वर्ग  जालियाँवाला  बाग की इस निर्मम एवं बर्बरतापूर्ण हत्या की घटना के विषय को जान सके और इस घटना को स्मरण मात्र से देश के युवाओ के अंदर प्रखर  राष्ट्रवाद की अलख जगे।

जैसा कि आप सभी को ज्ञात है कि 13 अप्रैल 1919 को पंजाब के अमृतसर स्थित जालियाँवाला बाग में बैसाखी के दिन रॉलेट एक्ट जैसे काला कानून के विरोध में शांतिपूर्ण सभा कर रहे देश के स्वतंत्रता सेनानियों पर अंग्रेज सैन्य अधिकारी जनरल डायर ने बर्बरता पूर्वक गोलियां चलाकर एक विशाल नरसंहार किया था। इस घटना का भारत सहित विश्व के लगभग सभी देशों ने इस घटना की कड़ी निंदा की थी । इतिहासकारों ने इस घटना को दुनिया का सबसे ज्यादा बर्बरता पूर्ण घटना करार दिया।  यहाँ  तक कि इस घटना के लिए जिम्मेवार ब्रिटेन ने भी इसे अपनी सबसे बड़ी गलती स्वीकार किया ।ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन  भारत स्थित इस जालियाँवाला बाग हत्याकांड स्थल का दौरा कर अपने पूर्वजों द्वारा की गई  इस आमानवीय घटना पर दुःख व्यक्त करते हुए भारतवासियों से क्षमा याचना किया था ।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद देश का राष्ट्रवादी छात्र संगठन होने के नाते इस जालियाँवाला बाग हत्याकांड में शहीद देश के हजारों वीर सपूतों की शहादत को याद करते हुए " *नमन करो इस माटी को* "कार्यक्रम आयोजित किया है ताकि देश के वर्तमान पीढ़ी के करोड़ों लोग भी इस बर्बरतापूर्ण घटना को जान सके।

 संगोष्ठी में बतौर  मुख्य वक्ता  उपस्थित अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विभाग संगठन मंत्री श्री सुजीत वर्मा  ने कहा कि," जलियाँवाला बाग की घटना  भारत ही नही बल्कि  विश्व इतिहास की एक बहुत ही निंदनीय घटना थी जिस प्रकार शांतिपूर्ण भीड़ पर अंधाधुंध गोलीबारी की गई , उसने बर्बरता की सारी हदें पार कर दी थी।  जलियाँवाला बाग की घटना ने स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई में आग में घी का काम किया जिसक परिणामस्वरूप  अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ भारतीयों का आक्रोश बढा एवं भारत की आजादी का मार्ग प्रशस्त हुआ। इस घटना में शहीद देश के क्रांतिकारी वीरों से आज की पीढ़ी को प्रेरणा लेने की आवश्यकता है ।

प्रांत सह मंत्री श्री बापन घोष ने कहा कि,  " देश के बलिदानी ही हमें देश के लिए जीने मरने की प्रेरणा देती है जलियावाला बाग का स्मरण मात्र से भारत के युवाओं में राष्ट्रवाद की चिंगारी फूटने लगती है ।

कॉलेज प्राचार्या डॉ कल्याणी कबीर ने अपने स्वागत संबोधन में कहा कि हमारे इतिहास में ही हमारी जड़ें निहित हैं इसलिए जरूरी है कि हम स्वतंत्रता संग्राम के समय की घटनाओं को स्मरण कर देशभक्ति की लौ जलाए रखें । जे के एम हाईस्कूल की हेडमिस्ट्रेस जीतिका ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की यह पहल युवा पीढ़ी को एक सजग और जिम्मेदार नागरिक बनाएगी।

मंच संचालन  जे के बी एड कॉलेज की प्राचार्या डॉक्टर पूनम कुमारी ने किया ।

धन्यवाद ज्ञापन विभागाध्यक्षा डॉक्टर मौसमी महतो  ने किया ।

कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ हुआ।

 मौके पर पूर्व विभाग प्रचारक श्री परमानंद महतो जी , कॉलेज के व्याख्याता डॉ सोनाली राय ,प्रोफेसर पूनम कर्ण ,  प्रोफेसर सुशांति , प्रोफेसर नंदन    आदि उपस्थित थे ।।


Posted by

Pawan Kumar


जरूर पढ़ें