Live

3 मार्च दिल्ली चलो को लेकर अरवल में चलेगा सघन प्रचार अभियान

अरवल से तबरेज़ अंसारी के रिपोर्ट ।

अरवल : देश भर के 100 से अधिक छात्र-युवा संगठनों और आंदोलनों की कमिटियों ने एक साझे मंच पर आकर  यंग इंडिया अगेंस्ट CAA-NRC-NPR' फोरम बनाया है। इस साझे मंच ने आगामी 3 मार्च को 'दिल्ली चलो' का आह्वान किया है। आज इसी के तहत अरवल में नौजवानों की बैठक हुई और शाहीनबाग की तर्ज पर चल रहे धरने को संबोधित किया गया.

9 नम्बर सुलिस पर चल रहे अनिश्चितकालीन धरने को संबोधित करते हुए JNUSU पूर्व महासचिव एवं यंग इंडिया अगेंस्ट CAA-NRC-NPR के बिहार प्रभारी,आइसा महासचिव संदीप सौरभ ने कहा कि सरकार CAA-NRC-NPR को लेकर जनता में भ्रम पैदा कर रही है। एक तरफ गृहमंत्री कहते है कि किसी भी अवस्था मे NRC पूरे देश मे लागू होगा और सभी राज्यों को आदेश दिया गया है कि अपने राज्य में डिटेंशन कैम्प का निर्माण करे दूसरी तरफ प्रधानमंत्री बेशर्मी से कहते है देश मे कोई डिटेंशन कैम्प नही बन रहा है जबकि सिर्फ असम में 6 डिटेंशन कैम्प बन चुका है। सिर्फ देश में कुछ हजार लोग है जो भारत की नागरिकता चाहते है जिन्हें पहले के कानून से नागरिकता दिया जा सकता था।लेकिन इसके जगह करोडों लोगों की नागरिकता छिनने कि साजिश किया जा रहा है, जिसमें असम का उदाहरण सामने है  20 लाख लोगों की नागरिकता को छीन लिया गया है. यह कानून लोगों की गोपनीयता और आर्थिक सुरक्षा को खतरे में  डालेगा। संघ-भाजपा और देश के प्रधानमंतत्री, गृहमंत्री ने अपने नफरत और घृणा भरे भाषणों से दिल्ली को जीतने की पुरजोर कोशिश कि लेकिन जनता ने मुद्दों पर काम करने वालों,भाईचारे की बात करने वालों को तरजीह देते हुए इनके मंसूबो को विफल कर दिया है. अगर आज भी मोदी पीछे नही हटने की बात कर रहे हैं तो करे, जनता अपने संविधान और लोकतंत्र को बचाने के लिए बहुत आगे बढ़ गई हैं.साथ मे बिहार के मुख्यमंत्री पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि नीतीश कुमार विधानसभा सत्र में CAA और NPR के खिलाफ विधेयक पास करे।यह कानून गरीब विरोधी है और इसमें जितना मुस्लिम समुदाय को खतरा है उतना ही दूसरे समुदायों को भी खतरा है खासकर गरीबजनता, दलित-आदिवासियों को.

सभा को संबोधित करते हुए इंकलाबी नौजवान सभा(इनौस) के राज्य सचिव सुधीर ने कहा कि संघ-भाजपा देश में साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण कर देश को अडानी-अम्बानी को सौंप देने की तैयारी कर रही है.जहां एक तरफ देश के आर्थिक व्यवस्था चरमराई हुई है, नौजवानों को रोजगार नही मिल रहा है, किसान आत्महत्या करने पर मजबूर है। भाजपा की सरकार देश के सरकारी सम्पतियों को बेचे जा रही है ,देश में दूसरा कंपनी राज स्थापित कर रही है

आइसा के राज्य सचिव सबीर कुमार ने संबोधित करते हुए कहा कि देश के छात्र जहाँ एक तरफ सस्ती शिक्षा को लेकर आंदोलन कर रहे हैं तो दूसरी तरफ संविधान को बचाने की लड़ाई भी पूरी से लड़ रहे हैं. आगामी 3 मार्च को देश भर के छात्र-नौजवान दिल्ली के रामलीला मैदान में सी ए ए एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ हुंकार भरेंगे.

बैठक में इनौस के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य रवींद्र यादव, जिला सचिव रमाकांत शर्मा/टुन्न शर्मा, जिला अध्यक्ष शाह शाद,जिला कमिटी सदस्य राम कुमार, दिलकेश्वर कुमार, अलखदेव, उमेश, नचिकेता, अरविन्द यादव, मुकेश, विशाल शामिल हुए।।

  


  




जरूर पढ़ें