Live

सभी ग्राम पंचायतों में फिर से शिविर लगकर बनाये जाएंगे गोल्डन कार्ड 

अभियान के तहत प्रति वर्ष 5 लाख रूपये का मिलता है निःशुल्क ईलाज 

सिवान 5 फरवरी : आयुष्मान भारत योजना के तहत जिले के ग्राम पंचायतों में शिविर लगाकर 60000 से अधिक लोगों के गोल्डन कार्ड बनाये गए हैं. आयुष्मान भारत योजना के प्रति आम जागरूकता काफ़ी महत्वपूर्ण है. इसे ध्यान में रखते हुए इस माह में फिर से जिले के सभी ग्राम पंचायतों में शिविर लगाकर गोल्डन कार्ड बनाये जाएंगे. जिले में स्वास्थ्य विभाग एवं पंचायती राज विभाग के कार्यपालक सहायकों द्वारा निःशुल्क गोल्डन कार्ड बनाये जा रहे हैं.   

विश्वास ऐप से 6 निजी अस्पतालों की हुयी जाँच: 

आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रति वर्ष 5 लाख तक की निःशुल्क ईलाज की व्यवस्था की गयी है. योजना के तहत जिले के चिन्हित सरकारी अस्पतालों के साथ जिले के निजी अस्पतालों में भी मरीजों को बेहतर ईलाज की सुविधा मिलेगी. इसको लेकर जिले में पहली बार आयुष्मान भारत के तहत निर्मित विश्वास ऐप से 6 निजी अस्पतालों की जाँच की गयी. जाँच पूरी होने के बाद विश्वास ऐप से निजी अस्पतालों को सूचीबद्ध किया जाना है.  

सामुदायिक जागरूकता पर दिया जा रहा बल: 

जिला कार्यक्रम प्रबंधक ठाकुर विश्वमोहन ने बताया आयुष्मान भारत के तहत चिन्हित सभी लोगों को योजना का लाभ दिलाने की कोशिश की जा रही है. फ़िलहाल जिले में ग्राम पंचायतों में शिविर लगाकर 60000 से अधिक लोगों के गोल्डन कार्ड बनाये गए हैं. इस पूरे महीने भी सभी ग्राम पंचायतों में शिविर लगाकर गोल्डन कार्ड बनाये जाएंगे. साथ ही सामुदायिक स्तर पर योजना के विषय में लोगों को जागरूक करने का भी प्रयास किया जा रहा है. आने वाले समय में अधिक से अधिक लोगों को योजना का लाभ मिलेगा. 

इन कागजातों को भी लगाना जरूरी: इन दोनों कागजातों के अलावा लाभुकों को आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, बैंक पासबुक में से कोई एक दस्तावेज लगाना अनिवार्य है. तभी लोगों का गोल्डन कार्ड बनाया जा सकता है.

यह है योजना: 

वर्ष 2011 के सामाजिक-आर्थिक एवं जातिगत जनगणना में चिन्हित गरीब परिवारों को इस योजना का पात्र बनाया गया है. प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत लाभार्थी परिवार पैनल में शामिल सरकारी या निजी अस्पतालों में प्रति वर्ष  5 लाख रूपये तक कैशलेस ईलाज करा सकते हैं. योजना का लाभ उठाने के लिए उम्र की बाध्यता एवं परिवार के आकार को लेकर कोई बंदिश नहीं है. योजना को संचालित करने वाली नेशनल हेल्थ एजेंसी ने एक वेबसाइट और हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. इसके जरिये लाभार्थी यह जान सकते हैं कि उनका नाम लिस्ट में शामिल है या नहीं. लिस्ट में नाम जांचने के लिए mera.pmjay.gov.in वेबसाइट देख सकते हैं या हेल्पलाइन नंबर 14555 पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती है. आयुष्मान भारत योजना में 60 प्रतिशत राशि केंद्र सरकार और 40 प्रतिशत राशि राज्य सरकार प्रदान करती है.

आयुष्मान भारत के तहत कई रोगों मुफ्त में इलाज :

आयुष्मान भारत योजना के तहत हड्डी, ऑर्थो, बर्न, नसबंदी, प्रसव, नवजात शिशु, इमरजेंसी रूम पैकेज, जानवर के काटने पर इलाज, शरीर के अंग के टूटने पर प्लास्टर, फूड प्वाइजनिंग, हाई फीवर का इस टीनएज, नवजात शिशु, जनरल सर्जरी, जनरल मेडिसिन आदि के मुफ़्त ईलाज का प्रावधान है ।।


Posted by

Pawan Kumar


जरूर पढ़ें