प्रशान्त किशोर की रिपोर्ट

जमुई:- प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया गया। 215 बटालियन मुख्यालय मलयपुर कैंप परिसर में हिंदी दिवस के उपलक्ष में एक कार्यक्रम का आयोजन कमांडेंट मुकेश कुमार द्वारा किया गया। कार्यक्रम में श्री ललन कुमार द्वितीय कमान अधिकारी श्री प्रवीण कुमार सुमन मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी श्री संदीप श्री डीके मीणा उप कमांडेंट श्री आर एस मीणा श्री धर्मेंद्र कुमार श्री गणेश चौधरी श्री अंगामी सहायक कमांडेंट एवं अधीनस्थ अधिकारी सहित सभी जवान समाजिक दूरी बनाते हुए उपस्थित हुए। इस अवसर पर श्री मुकेश कुमार ने बताया कि 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा में हिंदी को राजभाषा के रूप में स्वीकार किया गया था भारत गणराज्य के प्रत्येक केंद्र कार्यालय में हिंदी पूरी तरह सरकारी कार्यों की भाषा बन सके इसी अपेक्षा में प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। संविधान के अनुच्छेद 343 के अनुसार देवनागरी लिपि में लिखी हिंदी भारत संघ की राजभाषा है संविधान के अनुच्छेद 351 के अनुसार केंद्र सरकार की यह जिम्मेदारी है कि वह हिंदी का व्यापक प्रचार प्रसार करें जिससे कि यह देश की समान स्थित संस्कृति की सम वाहिका बन सके। आज हिंदी क्यों व्यापकता को देखे तो देश में ही नहीं अपितु विदेश में हुए लोकप्रियता प्राप्त कर रही है एक बार मा विश्व हिंदी सम्मेलन में मॉरीशस में सफलतापूर्वक आयोजित होना इसका उदाहरण है। इस मौके पर कमांडेंट मुकेश कुमार ने हिंदी दिवस के इस पावन अवसर पर सभी से अपील करते हुए कहा कि इस बटालियन के सभी अधिकारियों कार्य में राजभाषा नियम उसके परिचित हो और इसके प्रावधानों को अपने कार्यालय में वास्तविक रुप से लागू करें वह हिंदी में कार्य करने की उचित वातावरण बनाए और स्वयं हिंदी में लिखने और बोलचाल का प्रयोग कर गौरवान्वित महसूस करें। हिंदी भाषा को बढ़ावा देने के लिए हिंदी विषय अंकित पर विभिन्न प्रकार का प्रतियोगिता का आयोजन इस बटालियन में किया गया जिसमें इस बल्लू के कार्मिकों ने हिस्सा लिया सभी प्रतियोगिता में प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले कार्मिकों को पुरस्कृत करने की घोषणा की गई।


Advertisements

Posted by : Raushan Pratyek Media

Follow On :


जरूर पढ़ें